Breaking News
Home / ज्योतिष / धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की पूजा इस प्रकार करें-

धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की पूजा इस प्रकार करें-

धनतेरस को भगवान धन्वंतरि की विशेष पूजा की जाती है। पुराणों में लिखी कथा के अनुसार, देवताओं व दैत्यों ने जब समुद्र मंथन किया तो उसमें से कई रत्न निकले। समुद्र मंथन के अंत में भगवान धन्वंतरि अमृत कलश लेकर प्रकट हुए। उस दिन कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की त्रयोदशी ही थी। इसलिए तब से इस तिथि को भगवान धन्वंतरि का प्रकटोत्सव मनाए जाने का चलन प्रारंभ हुआ। पुराणों में धन्वंतरि को भगवान विष्णु का अंशावतार भी माना गया है। धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की पूजा इस प्रकार करें-

*((पूजन विधि:–))*

🕉सबसे पहले नहाकर साफ वस्त्र पहनें। भगवान धन्वंतरि की मूर्ति या चित्र साफ स्थान पर स्थापित करें तथा स्वयं पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठ जाएं। उसके बाद भगवान धन्वंतरि का आह्वान इस मंत्र से करें-

*((मंत्र:–)*

*🌷सत्यं च येन निरतं रोगं विधूतं,अन्वेषित च सविधिं आरोग्यमस्य। गूढं निगूढं औषध्यरूपम्, धन्वन्तरिं च सततंप्रणमामि नित्यं।।*

*(इसके बाद पूजा स्थल पर:–)*

👉1. आसन देने की भावना से चावल चढ़ाएं।

👉2. आचमन के लिए जल छोड़ें।

👉3. भगवान धन्वंतरि के चित्र पर गंध, अबीर, गुलाल पुष्प, रोली, आदि चढ़ाएं।

👉4. चांदी के बर्तन में खीर का भोग लगाएं। (अगर चांदी का बर्तन न हो तो अन्य किसी बर्तन में भी भोग लगा सकते हैं।)

👉5. इसके बाद पुन: आचमन के लिए जल छोड़ें।

👉6. मुख शुद्धि के लिए पान, लौंग, सुपारी चढ़ाएं।

👉7. भगवान धन्वंतरि को वस्त्र (मौली) अर्पण करें।

👉8. शंखपुष्पी, तुलसी, ब्राह्मी आदि पूजनीय औषधियां भी भगवान धन्वंतरि को अर्पित करें।

👉9. रोग नाश की कामना के लिए इस मंत्र का जाप करें-

*((मंत्र:–))*

*ऊं रं रूद्र रोग नाशाय धनवंतर्ये फट्।।*

🌷इसके बाद भगवान धन्वंतरि को श्रीफल व दक्षिणा चढ़ाएं। पूजा के अंत में कर्पूर से आरती करे।

*((धनतेरस:–))*

🕉धनतेरस के दिन सोना, चांदी, बरतन एवं धातु का सामान खरीदना शुभ फलदायी माना जाता है। मान्यता है कि इससे साल भर आर्थिक स्थिति अच्छी रहती है।

🌷इसलिए आप हर साल धनतेरस के मौके पर कुछ न कुछ जरूर खरीदते हैं। बावजूद इसके कोई साल ऐसा होता है कि आपको पूरे साल धन संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

🕉आप चाहें तो धनतेरस के दिन एक टोटका करके यह जान सकते हैं कि आने वाले साल में आपकी आर्थिक स्थिति कैसी रहेगी। इसके लिए आपको सिर्फ पांच रुपए खर्च करने होंगे।

*धनतेरस के दिन पांच रुपए का साबुत धनिया खरीदें। इसे संभालकर पूजा घर में रख दें।*

🌷दीपावली की रात लक्ष्मी माता के सामने साबुत धनिया रखकर पूजा करें। अगले दिन प्रातः साबुत धनिया को गमले में या बाग में बिखेर दें। माना जाता है कि साबुत धनिया से हरा भरा स्वस्थ पौधा निकल आता है तो आर्थिक स्थिति उत्तम होती है।

🌷धनिया का पौधा हरा भरा लेकिन पतला है तो सामान्य आय का संकेत होता है। पीला और बीमार पौधा निकलता है या पौधा नहीं निकलता है तो आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

आज बाजारों में बरसेगा धन, दीपावली के स्वागत की तैयारी

धनतेरस पर भगवान धन्वंतरि की पूजा इस प्रकार करें-

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *