Breaking News
Home / रिलेशनशिप / बीवी की तुलना में मर्दों को गर्लफ्रेंड अधिक पसंद आती हैं?

बीवी की तुलना में मर्दों को गर्लफ्रेंड अधिक पसंद आती हैं?

Loading...

आजकल मॉडल लाइफ की चकाचौंध में सब सपनों में खो गए है, लेकिन क्या आप जानते है इससे आपका घर तबाह हो सकता है?  जी हां हम बात कर रहे है शादीशुदा लाइफ में गर्लफेंड रखने की। क्या यह सही है? आज के दौर में गर्लफ्रेंड और बीवी में कौन बेहतर है, ये एक बहस का मुद्दा हो सकता है। लेकिन एक आम राय है कि बीवी की तुलना में मर्दों को गर्लफ्रेंड अधिक पसंद आती हैं। वैसे यह दोनों रिश्ते काफी अलग-अलग हैं इनकी तुलना तो नहीं हो सकती, लेकिन कुछ वजह ऐसी हैं कि मर्दों को गर्लफ्रेड बीवी से ज्यादा बेहतर लगती है…

-मिलती है आजादी : शादीशुदा लाइफ में कई प्रकार की रोक-टोक होती है, लेकिन गर्लफ्रेंड कोई भी प्रकार की पाबंदी नहीं लगाती है। इसलिए आजादी सबको भाती है। घर पर बीवी हर बात पर रोक-टोक लगाती है, तो मर्दों को इससे बेहतर गर्लफ्रेंड ही लगती है। कम से कम वो पैरों में जंजीरें तो नहीं बांधती। मर्दों को गर्लफ्रेंड गले का फंदा नहीं बल्कि गले का हार लगती हैं।

-शारीरिक संबंध : हां गर्लफ्रेंड बनाने की मुख्य वजह हो सकती है शारीरिक संबंध। इसलिए अधिकांश लोगों को शादीशुदा लाइफ में भी गर्लफ्रेंड बनाने की आवश्यकता पड़ती है, जिसकी मुख्य वजह यह भी हो सकती है सेक्स की संतुष्टि नहीं मिल पाना। तथ्य है कि लडक़ों को अपने जीवनसाथी के बजाय बिना शादी के ही संबंध बनाने में ज्यादा मजा आता है। फिर भले ही वो सिर्फ उसी के होकर रहें लेकिन शादी के बाद मिजाज थोड़ा बदल जाता है

– जासूसी नहीं होती : हां एक कारण यह भी हो सकता है कि बीवी हर बात पूछती है,लेकिन गर्लफ्रेंड नहीं पूछती है। साथ ही गर्लफ्रेंड के पास हम ज्यादा समय नहीं व्यतित करते है, तो वह किसी प्रकार के सवाल नहीं पूछती है। लेकिन बीबी को अधिकार प्राप्त होते हैं कि वह आपके साथ रहें। ऐसे में आपकी सारी हरकतों पर उनकी ही नजरें रहती हैं।

-नहीं होते हैं सवाल-जवाब

गर्लफ्रेंड को पल-पल का हिसाब नहीं देना पड़ता है वो अलग बात है कि लडक़े अपनी मर्जी से उसके करीब जाने के लिए हर बात बताते रहें। लेकिन बीवी को ऑफिस से निकलते वक्त से लेकर घर तक आ जाने की हर एक मिनट की खबर देनी पड़ती है। तो भाई इससे बेहतर तो गर्लफ्रेंड ही है।

-परमीशन की जरूरत नहीं : गर्लफ्रेंड से हर बात की परमीशन नहीं मांगनी पड़ती है। लेकिन कोई मर्द शादीशुदा है तो उसे अपनी बीबी से हर बात पर परमीशन या सलाह लेना आवश्यक हो जाता है वरना वो गुस्सा हो जाती है।

-दस्तावेजों की जरूरत नहीं : बिना शादी के ही आपको कोई पार्टनर मिलता है तो वो ज्यादा अच्छा है। बस यही सोचकर लडक़ों को गर्लफ्रेंड ज्यादा पसंद आती हैं। उन्हें लगता है जब वो ज्यादा चिपकेगी तो उन्हें हटाकर कोई और गर्लफ्रेंड बनाना अच्छा विकल्प है।

source

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *