Breaking News
Home / टेक्नोलॉजी / राष्‍ट्रीय डेटा सेंटर की स्‍थापना, जानिए खास बातें

राष्‍ट्रीय डेटा सेंटर की स्‍थापना, जानिए खास बातें

राष्‍ट्रीय सूचना विज्ञान केन्‍द्र (एनआईसी) ने भुवनेश्‍वर में एक नए अत्‍याधुनिक क्लाउड सक्षम राष्‍ट्रीय डेटा सेंटर की स्‍थापना की है। इस डेटा सेंटर का उद्घाटन केन्‍द्रीय इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं आईटी और विधि एवं न्‍याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद करेंगे और इस अवसर पर केन्‍द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान उपस्थित रहेंगे। यह डेटा सेंटर सरकार और इसके विभागों के ई-गवर्नेंस एप्लिकेशन्‍स के लिए सुरक्षित होस्टिंग के साथ 24×7 परिचालन की पेशकश करेगा।

Loading...

इसमें एकीकृत एवं साझा बुनियादी ढांचे का उपयोग किया गया है, जो इतना लचीला है कि यह आसानी से बुनियादी ढांचागत आवश्‍यकताओं के अनुरूप कार्यरत हो सकता है और इसके साथ ही यह भावी तकनीकी संवर्धन, वितरित एप्लिकेशन्‍स के साथ-साथ उन क्‍लाउड आधारित एप्लिकेशन्‍स को भी समायोजित कर सकता है, जो मांग पर उपलब्‍ध होते हैं।

प्रधानमंत्री ने बांग्लादेश भवन का उद्घाटन किया, शेख हसीना भी रहीं मौजूद

एनआईसी द्वारा स्‍थापित डेटा केन्‍द्रों से डेटा सेंटर एवं क्‍लाउड सेवाएं मुहैया कराई जा रही हैं।

भुवनेश्‍वर स्थित आईसीटी बुनियादी ढांचे को सॉफ्टवेयर आधारित आईसीटी इन्‍फ्रास्ट्रक्चर के जरिए मॉड्यूलर तरीके से सक्रिया किया जाएगा। इससे क्‍लाउड पर सेवाएं मुहैया कराने में आसानी होगी और यह एनआईसी की राष्‍ट्रीय क्‍लाउड सेवाओं को भी एकीकृत करेगा।

प्रधानमंत्री ने झारखंड में विभिन्‍न विकास परियोजनाओं का शिलान्‍यास किया

भुवनेश्‍वर स्थित नेशनल क्‍लाउड सर्विसेज से निम्‍नलिखित लाभ होंगे :

एप्लिकेशन्‍स की आसान उपलब्‍धता और उनकी त्‍वरित तैनाती सुनिश्चित करने के लिए मांग पर आईसीटी बुनियादी ढांचे तक पहुंच संभव हो सकेगी।

व्‍यापक आर्थिक स्‍तर हासिल करने के लिए आईसीटी बुनियादी ढांचे को साझा करने हेतु सेवा उन्‍मुख दृष्टिकोण।

कंप्यूटिंग संसाधनों को साझा करने के लिए किफायती, सेवा उन्‍मुख दृष्टिकोण।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *