Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / सिनेमा के मुकाबले अधिक लोकतांत्रिक और प्रभावशाली है डिजीटल मीडिया!

सिनेमा के मुकाबले अधिक लोकतांत्रिक और प्रभावशाली है डिजीटल मीडिया!

अभिनेता विवेक ओबेरॉय शुक्रवार को मुंबई में जागरण सिनेमा शिखर सम्मेलन में शामिल हुए। पैनल चर्चा में फिल्मों के भविष्य पर बातचीत करते हुए विवेक ओबेरॉय ने कहा,”डिजीटल मीडिया, सिनेमा के मुकाबले अधिक लोकतांत्रिक और प्रभावशाली है।

विवेक ओबेरॉय पहले फिल्म अभिनेता हैं जो अब खुद को डिजिटल मीडिया पर आज़मा रहे हैं, ओबेरॉय ऐमज़ॉन प्राइम विडिओ में नजर आएंगे, जब उस पर उनसे चर्चा की गई कि इस डिजिटल माध्यम में काम करने पर कई अभिनेता ये सोचते हैं की आपके अंदर स्टारडम की कमी है , तो उन्होंने कहा,” जब इनसाइड एड्ज की स्टोरी मेरे पास आयी तो मुझे बहुत अच्छी लगी  और डिजिटल मिडिया का ये तरीका  मुझे बहुत पसंद आया। इस नए तरीके से बदलाव आएगा।

“ मुझे कई लोगो ने  कहा आपको इसमें काम नहीं करना  चाहिए, तो मैंने अनुमान लगाया की लगभग 2 से 3 करोड़ लोग ही फ़िल्में देखने जाते हैं।  भारत में स्मार्ट फ़ोन लगभग 40 करोड़ लोगो के पास है और उन 40 करोड़ लोगो में से अगर 3 करोड़ लोग भी इस प्रोग्राम को देखेंगे तो मेरी मेहनत सफल है।

“यह मुझे पहलाज निहलानी के सेंससिप से भी दूर रखेगा और मुझे किसी भी मल्टीप्लेक्स में जा के यह नहीं कहना पड़ेगा मुझे अपनी फिल्म की स्क्रीनिंग करनी है। मैं रात को 3 बजे और कही भी अपने दोस्तों के साथ  इनसाइड एड्ज  देख सकता हूँ।

विवेक ने आगे बात करते हुआ कहा,”फिल्म अगर ‘पिंक’ जैसी हो तो ठीक है। लेकिन समसस्या तब आती है जब फिल्म का बजट 15 करोड़ हो और 3000 स्क्रीन्स पर रिलीज करनी हो तो फिल्म से ज्यादा बजट डिस्ट्रीब्यूशन में चला जाता है। पर प्राइम विडिओ में इस तरह की समस्यां नहीं आती।

विवेक ओबेराय को आखिरी बार बैंक चोर में देखा गया था ,  जिसे यशराज फिल्म्स द्वारा प्रस्तुत किया गया था।

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *