Breaking News
Home / क्राइम / मिस्र: नहीं मिली मुहम्मद मुर्सी को राहत, आजीवन कारावास की सज़ा बरकरार

मिस्र: नहीं मिली मुहम्मद मुर्सी को राहत, आजीवन कारावास की सज़ा बरकरार

काहिरा। शनिवार को मिस्र की एक कोर्ट ने अपदस्थ राष्ट्रपति मुहम्मद मुर्सी की आजीवन कारावास की सज़ा को बरकरार रखा। मुर्सी को कतर जासूसी मामले के लिए जाना जाता है।

खबरों के मुताबिक अपनी रिपोर्ट में बताया कि मिस्र की शीर्ष अपीलीय कोर्ट, द कोर्ट ऑफ कैसेशन ने पूर्व राष्ट्रपति की अपील को खारिज़ कर दिया और कहा कि यह आदेश ‘अंतिम है और इसके खिलाफ अपील नहीं की जा सकती है। कोर्ट ने इसी मामले में मुस्लिम ब्रदरहुड के 3 सदस्यों की मौत की सज़ा की भी पुष्टि की।

पेरिस जलवायु समझौते पर अमेरिका ने ये कहा!

मिस्र में आजीवन कारावास की सज़ा 25 सालों की जेल है। गोपनीय दस्तावेज़ों को कतर को लीक करने के लिए अपने पद का यूज करने और अल-जजीरा चैनल को इन्हें बेचने का दोषी पाए जाने के बाद जून 2016 में मुर्सी को ये सज़ा सुनाई गई थी।

इन दस्तावेज़ों में कथित रूप से सैन्य खुफिया, सशस्त्र बलों और राष्ट्र नीति से जुड़ी खुफिया जानकारी शामिल थीं जिनके लीक होने से राष्ट्रीय सुरक्षा को ख़तरा पैदा हो सकता था।

देशभर में हुई भगवान विश्वकर्मा की विशेष पूजा-अर्चना

गौरतलब हैं कि वर्ष 2012 में राष्ट्रपति भवन इत्तिहादेया के निकट हिंसा को भड़काने में शामिल होने के लिए इसी कोर्ट ने गत अक्टूबर में मुर्सी की 20 वर्ष की सज़ा की पुष्टि की थी।

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *