Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / गले में खराश हो तो अपनाएं ये आसान घरेलू नुस्खे!!

गले में खराश हो तो अपनाएं ये आसान घरेलू नुस्खे!!

गले में खराश एक आम श्व्सन समस्या होती है| गले में खराश का मुख्य कारण गले की नाजुक अंदरूनी परत का वायरस या बैक्टीरिया से संक्रमित होना होता है| गले में सूजन, खांसी, दर्द आदि चीज़े गले के संक्रमण के प्रमुख लक्षण है| सामान्यता गले की खराश का कारण वायरल होता है यह कुछ दिन बाद अपने आप ठीक हो जाता है| परन्तु ये जब तक रहता है बहुत ही कष्टदाई होता है| गले में खराश के कारण कुछ भी खाना मुश्किल हो जाता है| यहाँ तक की पानी भी नहीं निगला जाता| गले में खराश अगर लम्बे समय तक रहे तो इसे हलके में न ले तुरंत चिकित्सक को दिखाए और दवाई लें| गले की खराश को दूर करने के कुछ घरेलू नुस्खे भी है जिनके आज़माकर आप इससे आराम पा सकेंगे –

Loading...

गर्म पानी में नमक डालकर हर 2-2 घंटे में गरारे करें| गर्म पानी और नामक गले को शीतलता प्रदान करते है और गले के संक्रमण को ही दूर करने में सहायक होते है|

रात्रि के समय आधा दूध में आधा पानी मिलाये और इसका सेवन करें|

खटाई, ठंडा, रूखा, मछली आदि का प्रयोग न करे|

काली मिर्च व् तुलसी का काढ़ा पीयें| एक कप पानी में 5-6 टूल्स के पत्ते व 3-4 काली मिर्च को उबालकर काढ़ा बना ले और इसे दिन में 2-3 बार पीयें|

ज्यादा ताली भुनी चीज़ो का सेवन न करें| गले में खराश होने पर हमेशा गुनगुने पानी का ही सेवन करें|

बादाम व काली मिर्च को पीस ले और इसका प्रयोग करें|

अदरक की चाय बनाकर पीयें| ये गले में बहुत आराम पहुंचाएगी|

लहसुन की 1-2 कलियों में 2-3 लॉन्ग पीस लें| इसके मिश्रण में थोड़ा सा शहद मिला ले| इस पेस्ट का दिन में 2-3 बार सेवन करें|

गले में खराश होने पर जितना हो तरल पदार्थ का प्रयोग करे| हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिंगस गले की खराश को बढ़ा देते है| लिक्विड चीज़ो का प्रयोग करें से शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते है|

रात को सोते समय दूध में थोड़ी सी मात्रा में हल्दी मिला ले और इस दूध का सेवन करें| हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण होते है जो गले की सूजन और दर्द को दूर करते है|

सर्दियों में अवश्य करें संतरे का सेवन, मिलेंगे ये लाभ

आलू खाने के इन फायदों के बारे में जानते हैं आप

राइस वाटर है हमारे लिए सेहतमंद, जानिए कैसे!!

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *