Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / नहीं रहे महंत भास्कर दास, अयोध्या में राम मंदिर के थे पक्षकार

नहीं रहे महंत भास्कर दास, अयोध्या में राम मंदिर के थे पक्षकार

अयोध्या। शनिवार सुबह निर्मोही अखाड़े के महंत भास्कर दास का निधन हो गया। भास्कर दास 90 वर्ष के थे। वे राम मंदिर केस के हिंदू पक्षकार थे। उन्हें 4 दिन पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

तो इसलिए सिक्किम विवाद पर प्रियंका को मांगनी पड़ी माफी!

खबरों के मुताबिक भास्कर दास को ये तीसरा अटैक आया है। इससे पहले उन्हें वर्ष 2003 और 2007 में भी अटैक आ चुका था। भास्कर दास का जन्म वर्ष 1929 में गोरखपुर के रानीडीह में हुआ था।

त्यौहारी सीजन: आॅनलाइन कंपनियां शुरू करेगी फेस्टिव सेल्स

इसके बाद वर्ष 1946 में वह अयोध्या आ गए। वर्ष 1949 में वह राम जन्मभूमि बनाम बाबरी मस्जिद केस से जुड़े। वे वर्ष 1966 तक राम चबूतरे के पुजारी रहे। इसके बाद वे बगल के मंदिर में रहे। वर्ष 1986 में फैजाबाद नाका में हनुमान गढ़ी मंदिर के महंत बने।

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *