Breaking News
Home / देश / यह घटनाएं बताती हैं देश के मौजूदा मेडिकल सिस्टम के हालात

यह घटनाएं बताती हैं देश के मौजूदा मेडिकल सिस्टम के हालात

कहते हैं डॉक्टर ही इंसान की जिंदगी के लिए आखिर तक लड़ता है। लेकिन, इस दौर के मेडिकल सिस्टम से जुड़े लोगों से ऐसी उम्मीद रखना गलत ही साबित होता जा रहा है। इस दौर में अच्छी मेडिकल व्यवस्था सिर्फ चुनिंदा और पैसे वालों के लिए रह गई है। गरीबों के लिए महंगा इलाज के बारे में सोचना भी मुश्किल है। ताजा मामला नोएडा के फोर्टिस हॉस्पिटल में सामने आया है जो देश के मेडिकल सिस्टम की ताज़ा हालत के बारे में बताता है।  दरअसल गाजियाबाद से गंभीर हालत में लाए गए आठ वर्षीय बच्चे को नोएडा के फोर्टिस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। लेकिन, बच्चे की दो घंटे में मौत हो गई। महज दो घंटे में बच्चे की डेड बॉडी के साथ 30 हजार का बिल भी थमा दिया गया। मृतक बच्चे के परिजनों ने इसकी शिकायत हेल्थ डिपार्टमेंट में की। इससे पहले भी इसी अस्पताल की कई शिकायतें मिल चुकी हैं। इसके बाद सरकार फौरन हरकत में आई और अब हॉस्पिटल की जमीन की लीज रद्द करने पर विचार किया जा रहा है। प्राइवेट अस्पतालों को लेकर आए दिन मिल रही शिकायतों को लेकर राज्य सरकारें एक्शन में हैं।

Loading...

मानवाधिकार का उल्लंघन है आधार लिंकिंग करना: ममता

यह नई घटना नहीं है इससे पहले भी लक्जरी प्राइवेट हॉस्पिटल में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जो इलाज के नाम से दिल में डर पैदा कर देते हैं। आइए ऐसे मामलों पर रोशनी डालते हैं….

मैक्स अस्पातल ने जिंदा बच्चे को मृत घोषित कर दिया था। लेकिन जब मां-बाप ने बच्चे को देखा तो उसकी धडक़नें चल रहीं थीं। मामला मीडिया में आने के बाद दिल्ली सरकार ने अस्पताल के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही थी। दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने मैक्स अस्पताल का लाइसेंस रद्द कर दिया है।

नायडू ने की माओवदियों से अपील, हिंसा छोड़ मुख्य धारा में हो शामिल

कुछ दिन पहले गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में भी ऐसा मामला पेश आया था। 15 दिनों से भर्ती डेंगू से पीडि़त सात वर्षीय बच्ची की मौत हो गई थी। बच्ची की डेड बॉडी के साथ अस्पताल ने मृतक बच्ची के पिता को 15 लाख का बिल थमा दिया था। यह बिल पंद्रह दिन का बताया जा रहा था। मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा था मौत के वक्त पहनी हुई बच्ची की ड्रेस के 900 रुपए तक मांगे गए थे। पैसे नहीं देने पर डेड बॉडी नहीं देने की बात कही गई थी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *