Breaking News
Home / देश / एस एंड पी ने बरकरार रखी भारत की रेटिंग, दृष्टिकोण स्टेबल बताया

एस एंड पी ने बरकरार रखी भारत की रेटिंग, दृष्टिकोण स्टेबल बताया

Loading...

मूडीज ओर इज ऑफ डूइंग बिजनेस की रेटिंग से खुश हो रही केंद्र सरकार को एस एंड पी रेटिंग एजेंसी ने झटका दिया है। अंतर्राष्ट्रीय ग्लोबल रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर्स (एस एंड पी) ने भारत की 2016 की रेटिंग को 2017 में भी बरकरार रखा है। एस एंड पी ने ताजा रेटिंग में भारत को ट्रिबल बी माइनस में रखा है। एस एंड पी ने पिछले साल भी भारत की यही रेटिंग जारी की थी लेकिन, दृष्टिकोण स्थिर यानि स्टेबल रखा था। निवेश के मामले में यह रेटिंग सबसे निचले पायदान पर होती है। जबकि दृष्टिकोण स्थिर रखने का मतलब यह है कि रेटिंग फिलहाल नहीं बढ़ी लेकिन, गिरने की भी कोई उम्मीद नहीं है।

नए साल पर आठ नई उड़ानें शुरू करेगी ‘इंडिगो’

पिछली दो अंतर्राष्ट्रीय रेटिंग कंपनी ने भारत रेटिंग में सुधार किया था। इस रेटिंग से भारत सरकार उत्साहित नजर आ रही थी। लेकिन, नई रेटिंग से सरकार ने निराशा जताई है। जबकि पिछली बार यानि 2016 में भी एस एंड पी ने यही रेटिंग जारी की थी, तब सरकार ने निराशा जताते हुए कहा था कि रेटिंग एजेंसियों को अपने तरीको में थोड़ा सुधार करना चाहिए।

GST और नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार पर जमकर बरसे यशवंत सिन्हा

अमेरिका की रेटिंग एजेंसी मूडीज इनवेस्टर सर्विसेज ने 13 साल बाद भारत की सोवरिन रेटिंग ‘बीएए3’ से सुधारकर ‘बीएए2’ कर दी थी। साथ ही दृष्टिकोण (नजरिया) सकारत्मक से स्थिर कर दिया था। इसस पहले अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मूडीज ने भारत की रेटिंग में सुधार किया था।

आज से ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगा नोकिया 2

इसके अलावा मूडीज की रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि जीएसटी और नोटबंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था को बल मिला है। मूडीज ने भारतीय रेटिंग को स्टेबल बताते हुए कहा था कि भारतीय बाजार में विदेशी निवेशकों का विश्वास बढ़ेगा और दृष्टिकोण के गिरने के आसार नहीं है और वो स्टेबल बने रहेंगे। इससे पहले एक नवंबर को देश में कारोबारी सुगमता यानी इज ऑफ डूंइंग बिजनेस रैंकिंग ने भारत को टॉप 100 देशों की सूची में शामिल किया था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *