Breaking News
Home / ज़रा हटके / इस जेल को देखकर हो सकती है कैदी बनने की इच्छा, ऐसी हैं सुविधाएं

इस जेल को देखकर हो सकती है कैदी बनने की इच्छा, ऐसी हैं सुविधाएं

आपने फाइव स्टार होटल, फाइव स्टार स्कूल, फाइव स्टार अस्पताल के बारे में अवश्य ही पढ़ा या सुना होगा परन्तु क्या आपने कभी फाइव स्टार जेल के बारे में सुना है शायद नहीं, तो आज हम आपको बताते है विश्व की एक मात्र फाइव स्टार जेल के बारे में…

यह जेल ऑस्ट्रिया में स्थित जस्टिस सेंटर लियोबेन में है। चर्चित आर्किटेक्ट जोसेफ होहेंसिन्न द्वारा डिज़ाइन यह जेल, ऑस्ट्रिया के पह़ाडी क्षेंत्र लियोबेन में स्तिथ है इसे 2005 में चालू किया गया था। इस फाइव स्टार जेल में लगभग 205 कैदियों के रहने की शानदार व्यवस्था है। इस स्पेशल जेल में कैदियों को वो सभी आधारभूत सुविधाएँ दी जाती है जो वर्तमान समय की मांग है। जस्टिस सेंटर लियोबेन में स्पा, जीम, कई तरह के इंडोर गेम तथा पर्सनल हॉबी की सुविधाएं उपलब्ध है। इस स्पेशल जेल में कैदी 13 तक की संख्या में एक जगह इकठ्ठे हो सकते है और अपनी बाते एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते है।

इस खास जेल की सेल भी आम जेलों से हटकर है। हर सेल में एक पर्सनल बाथरूम, एक रसोई तथा एक लिविंग रूम होता है जिसमे टीवी की सुविधा भी उपलब्ध रहती है। इसके अतिरिक्त रूम में एक फुल साइज विंडो होती है जो की बाहर बॉलकनी में खुलती है जिससे की आप बाहर का सीन देख सके।

इस स्पेशल में हर सेक्सन के बाहर भी घूमने के लिए खुली जगह होती है जहाँ कैदी सुबह से शाम तक ताज़ी हवा का मजा ले सकते है। इस जेल के अगले भाग में कोर्ट से सम्बंधित काम होता है इसलिए यह हिस्सा आम जनता के लिए खुला है। लोग इस हिस्से में जाकर अंदर की जेल का नज़ारा आराम से देख सकते है।

इस स्पेशल जेल परिसर में दो शिलालेख भी है जिसमे से प्रथम शिलालेख में उत्कीर्ण शब्द है सभी मानव सवतंत्र होते है और वे सब बराबर की गरिमा और जीने के अधिकारी होते है। यह शब्द अमेरिका की स्वतंत्रता के घोषणा पत्र से लिया गया है। तथा दूसरे शिलालेख में उत्कीर्ण शब्द है हर इंसान को स्वतंत्रता से जीने का अधिकार है चाहे तो कैदी ही क्यों नही हो उसे भी जन्मजात गौरव और सम्मान के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए।

जमीन के अंदर बसने वाले इस गांव के बारे में नहीं जानते होंगे आप

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *