Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / रहस्य से पर्दा उठा..! ना तांत्रिक, ना इंसान, ना जानवर तो इस पर हैं चोटी काटने का संदेह

रहस्य से पर्दा उठा..! ना तांत्रिक, ना इंसान, ना जानवर तो इस पर हैं चोटी काटने का संदेह

Loading...

जयपुर। महिलाओं की चोटी कटने की वारदातें अफवाह हैं, या फिर इसके पीछे की वजह क्या हैं, इससे पर्दा उठना बाकि हैं,लेकिन यह अफवाह अब धीरे-धीरे देश के कई राज्यों में पहुंच चुकी हैं।

इस वारदात से अभी तक पर्दा नहीं उठा हैं, लेकिन अगर खबरों की मानें तो राजस्थान से शुरू हुई घटना अब उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्यप्रदेश और दिल्ली तक पहुंच गई हैं। इस घटना पर प्रशासन अभी तक चुप्पी साधे हुए हैं।

लेकिन हकिकत तो अभी सामने नहीं आई हैं। सोशल मीडिया से शुरू हुई घटना अब खबरों तक पहुंच गई हैं। कोई इससे तंत्र विद्या मान रहा हैं, तो कोई कह रहा हैं कोई कीड़ा हैं, जो महिलाओं की चोटी काट रहा हैं, लेकिन अगर वो कीडा हैं, तो वह राजस्थान से होकर अब दिल्ली भी पहुंच गया हैं।

क्या यह हकीकत हैं! वास्तविकता से पर्दा उठना बाकि हैं। चलिए आपको बता दें कि यह घटना कहां-कहां पर ​अब तक ​घटित हो चुकी हैं। यह कोई तांत्रिक नहीं है एक ‘मैकी’ नाम का कीड़ा है।

यह कोई तांत्रिक नहीं है एक ‘मैकी’ नाम का कीड़ा है
– अगर खबरों की माने तो वायरल मैसेज में काले रंग के एक कांटेदार कीड़े की फोटो को दिखाते हुए दावा किया जा रहा है, ‘बाल काटने वाली घटना सही है। पर ये कोई तांत्रिक नहीं है।

तो ये है चोटी काटने की घटना का असली सच?

एक ‘मैकी’ नाम का कीड़ा है। जो बालों पर बैठता है। बालों को काटता है। जिससे बाल कटकर नीचे गिरते हैं। और आदमी बेहोशी हालत में आ जाता है। वह हवा के साथ ही दिल्ली और आस-पास उड़ता हुआ घूम रहा है। डरने की कोई बात नहीं है। इस खबर को सभी राज्यों में फैला दें, ताकि अफवाह ना फैले।
यहां पर कटी चोटियां

किशोरी की अचानक कट गई चोटी, दहशत में है इलाके के लोग

-मथुरा में भी चोटी कटने को लेकर महिलाएं दहशत में हैं। यहां पर कई तरह के टोटके किए जा रहे हैं। यही नहीं धार्मिक अनुष्ठान के साथ साथ तांत्रिकों की भी शरण ली जा रही है।
-दिल्ली से सटे फरीदाबाद में एननाईटी कंपनी में काम करने वाली लड़की की भी चोटी कट गई।
-गाजियाबाद में 11 वर्ष की मुस्कान नामक बच्ची के साथ भी इसी तरह का हादसा हुआ। उसका कहना थ था कि मैं सो रही थी और काली बिल्ली ने आकर मेरी चोटी काट ली।

हर पल खौफ का साया, फिर कट गई चोटी!

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *