अब बीजेपी का नया नाम ‘भूमिगत जनविरोधी पार्टी’ होना चाहिए: अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि बीजेपी की किसानों के प्रति क्रूरता व जनता के आक्रोश से डरकर बीजेपी में इस्तीफ़ों का दौर आ गया है।

क्योंकि भाजपा का राजनीतिक के साथ सामाजिक बहिष्कार भी शुरू हो गया है। चौराहों पर नफ़रत बांटनेवाले भाजपाई भूमिगत हो गये हैं। अब बीजेपी का नया नाम ‘भूमिगत जनविरोधी पार्टी’ होना चाहिए।

उन्होंने कहा था कि जिस प्रकार भाजपा सरकार अपनी चालों से भोलेभाले किसानों के आंदोलन को बदनाम कर रही है और जिस तरह भाजपाई षडयंत्रों का पर्दाफ़ाश हो रहा है उससे आम जनता की सहानुभूति किसान आंदोलन के साथ और भी बढ़ गयी है।

यह भी पढ़ें:

अमेरिका ने किया कृषि कानूनों का समर्थन, उठाए गए कदमों का किया स्‍वागत

रिहाना, ग्रेटा थनबर्ग, मिया खलीफा द्वारा किसान आंदोलन के समर्थन पर क्या बोले राकेश टिकैत?