अस्पताल की बड़ी लापरवाही: पत्नी ने जिद कर बॉडी का चेहरा देखा तो उड़ गए होश

कोरोना पॉजिटिव जिंदा आदमी को मृत घोषित का बड़ा मामला सामने आया है। मामला बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच का है।

क्या है पूरा मामला:

पटना के बाढ़ निवासी चुन्नू कुमार को ब्रेन हैमरेज हुआ था। दो दिन पहले स्वजनों ने उन्हें पटना के पीएमसीएच में भर्ती कराया था। इलाज के दौरान जांच में उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस दौरान स्वजनों को चुन्नू से मिलने की इजाजत नहीं दी जा रही थी।

रविवार की सुबह दस बजे बताया गया कि मरीज की स्थिति खराब है। इसके कुछ ही देर बाद चुन्नू को अस्पताल ने मृत घोषित कर दिया और सारी कागजी कार्रवाई पूरी कर ली।

पत्नी ने बताया कोरोना पॉजिटिव होने के कारण सीधे बॉडी को अस्पताल की एंबुलेंस से बांसघाट पहुंचा दिया गया। पत्नी ने बताया कि कदकाठी देखकर मेरा मन नहीं माना तो चेहरा दिखाने की जिद की। एंबुलेंस चालक से कहकर बॉडी का चेहरा खुलवाया तो होश उड़ गए। शव चुन्नू कुमार का नहीं था।

अस्पताल को सूचना देने पर पता चला कि चुन्नू कुमार का इलाज अभी अस्पताल में चल रहा है। हालांकि लापरवाही से जो शव बांस घाट पहुंचाया गया है उसे लेने कोई नहीं आया।

किसान आंदोलन को शाहीनबाग का आंदोलन मत समझ लेना: राकेश टिकैत