एनकाउंटर में शामिल होने वाली पहली महिला इंस्पेक्टर बनीं एसआई प्रियंका शर्मा, अपराधियों का डटकर मुकाबला किया

दिल्ली में गुरुवार तड़के एक एनकाउंटर हुआ जिसमें सब इंस्पेक्टर प्रियंका शर्मा भी शामिल रहीं। इसके साथ ही वह ऐसी पहली इंस्पेक्टर बन गई हैं जो किसी मुठभेड़ में शामिल हुईं और बदमाशों को पकड़ा भी। एसआई प्रियंका ने बदमाशों का डटकर मुकाबला किया। यही नहीं उनके बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोलियां भी लगीं।

पकडे गए अपराधियों रोहित चौधरी पर 4 लाख और टीटू पर 1.5 लाख रुपए का इनाम रखा गया था।

बता दें कि सुबह 4:30-5:00 के बीच इलाके में पुलिस की टीम ने एक संदिग्ध कार को रोकने की कोशिश की, लेकिन कार सवार बदमाशों ने कार की स्पीड बढ़ा दी, जिसके कारण कार पुलिस बैरिकेड से टकरा गई। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, बदमाशों ने पकड़ा जाता देख पुलिस पर फायरिंग करनी शुरू कर दी थी। बदमाशों की एक गोली एसीपी पंकज और एक गोली सब इंस्पेक्टर प्रियंका की बुलेट प्रूफ जैकेट पर लगी। जवाबी कार्रवाई में बदमाशों के पैर में गोली मारी गई, जिससे वे घायल हो गए।

पुलिस के मुताबिक, 4 राउंड फायरिंग के बाद दोनों बदमाशों को अपनी गिरफ्त में ले लिया गया। पुलिस ने इनके पास से दो सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल और कार बरामद की है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को एक गुप्त सूचना मिली थी कि दो नामी बदमाश दिल्ली में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक या फिर किसी जानकार से मिलने के लिए आने वाले हैं। सूचना मिलने पर दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम ने प्रगति मैदान इलाके में भैरव मंदिर के पास जाल बिछाकर इन अपराधियों को घेर लिया।

यह भी पढ़ें:

पीएम मोदी ने बता दिया – बंगाल में बीजेपी के जीतने पर कौन बनेगा मुख्यमंत्री?