पश्चिम बंगाल में जलमार्गों के सुधार के लिए 10.5 करोड़ डॉलर की परियोजना

भारत सरकार, पश्चिम बंगाल सरकार और विश्व बैंक ने कोलकाता, पश्चिम बंगाल में अंतर्देशीय जल परिवहन अवसंरचना में सुधार के लिए 10.5 करोड़ डॉलर की परियोजना पर हस्ताक्षर किए हैं।

पश्चिम बंगाल अंतर्देशीय जल परिवहन, रसद और स्थानिक विकास परियोजना से हुगली नदी पर यात्री और माल की आवाजाही सुविधाजनक होगी; कोलकाता महानगर क्षेत्र में पहुंच में सुधार के लिए स्थानिक योजना कराई जाएगी; इसके नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा; और राज्य के लॉजिस्टिक क्षेत्र के विकास के प्रति योगदान होगा।

आर्थिक मामलों के विभाग, वित्त मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव डॉ. सी एस महापात्रा ने कहा, “अंतर्देशीय जलमार्ग यात्री और माल की आवाजाही के लिए प्रभावी और पर्यावरण अनुकूल विकल्प के रूप में उभर रहे हैं।

यह परियोजना पश्चिम बंगाल में नदी परिवहन अवसंरचना में सुधार में सहायक होगी और साथ ही इससे दूरदराज के क्षेत्रों को कोलकाता महानगर क्षेत्र के बाजारों व रोजगार केन्द्रों से जोड़कर राज्य के आर्थिक विकास को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।”

इस समझौते पर भारत सरकार की तरफ से आर्थिक मामलों के विभाग, वित्त मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव डॉ. सी एस महापात्रा; पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से उप आयुक्त श्री राजदीप दत्ता; और विश्व बैंक की तरफ से कंट्री निदेशक, भारत श्री जुनैद अहमद ने हस्ताक्षर किए।

इस परियोजना में कोलकाता महानगर क्षेत्र (केएमए) सहित दक्षिणी पश्चिम बंगाल के पांच सबसे ज्यादा आबादी वाले जिलों को शामिल किया जाएगा, जहां लगभग 3 करोड़ या पश्चिम बंगाल की एक तिहाई आबादी रहती है।

यह भी पढ़ें:

खुलने लगे स्कूल, हो न जाये भूल!