ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम करने का रामबाण इलाज है अर्जुन की छाल, जानें इसके अन्य फायदे

अर्जुन के पेड़ का आयुर्वेद में अधिक महत्व है। इसमें कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। इस पेड़ की छाल हैल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होती है। इस छाल को पाउडर के रूप में इस्तेमाल करके स्ट्रोक, हार्ट अटैक और हार्ट फेल जैसे हार्ट संबंधी रोगों से बचा जा सकता है। इस पेड़ में बीटा-सिटोस्टिरोल, इलेजिक एसिड, ट्राईहाइड्रोक्सी ट्राईटरपीन, मोनो कार्बोक्सिलिक एसिड, अर्जुनिक एसिड मौजूद होता है, ऐसे में कई बीमारियों से बचा जा सकता है। अर्जुन की छाल का सेवन करने से हार्ट की समस्या, क्षय, पित्त, कफ, सर्दी, खांसी, कोलेस्ट्रॉल और मोटापे जैसी बीमारी से निजात पाया जा सकता है। अर्जुन की छाल को खाने के अन्य फायदे, आइये जानें यहां –

हार्ट रोगियों के लिए फायदेमंद

अर्जुन की छाल हार्ट रोगियों के लिए एक रामबाण दवा है। इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित रहता है। अर्जुन की छाल धमनियों में जमने वाले कोलेस्ट्रॉल को कम करने में अहम भूमिका निभाता है। इसका सेवन अवश्य करें।

ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम करे

अर्जुन के पेड़ में कसुआरिनिन नाम का रासायनिक तत्व मौजूद होता है। जिसके चलते शरीर में कैंसर की कोशिकाएं फैल नहीं पाती है। अर्जुन की छाल स्तन कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने में बेहद फायदेमंद होती है। इसका सेवन गर्म दूध में डालकर करने से कैंसर से बचा जा सकता है।

डायबिटीज कंट्रोल करे

अर्जुन की छाल डायबिटीज की बीमारी को कंट्रोल करने में बेहद फायदेमंद होती है। इसका सेवन पीसकर चूर्ण के रूप में किया जा सकता है। नियमित सुबह गुनगुने पानी में इस चूर्ण को डालकर पीने से डायबिटीज की समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है।

वजन घटाए

अर्जुन की छाल का सेवन काढ़े के रूप में करने से मोटापे को कम किया जा सकता है। यह काढ़ा पाचन तंत्र को सुचारु रखने में भी कारगर साबित होता है। यह इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाने में लाभदायक होती है। इसके सेवन से सर्दी खांसी जैसी बीमारियों से भी राहत पाई जा सकती है।

मुंह के छालों से राहत

अर्जुन की छाल की तासीर ठंडी होती है। ऐसे में इसका सेवन करने से मुंह में छाले भी नहीं होते हैं। यह हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है।

यह भी पढ़ें-

जानकर हो जायेंगे हैरान, संजीवनी बूटी जैसी लाभदायक है इस पेड़ की पत्तियाँ