Breaking News
Home / खेल / भारत की राष्ट्रीय टीम में खेल चुका है जम्मू कश्मीर का यह क्रिकेटर, जानिए नाम और रिकॉर्ड

भारत की राष्ट्रीय टीम में खेल चुका है जम्मू कश्मीर का यह क्रिकेटर, जानिए नाम और रिकॉर्ड

देश में आजकल जम्मू कश्मीर से हटाई गई धारा यानि आर्टिकल 370 की चर्चा है। लेकिन, अगर जम्मू कश्मीर की फिजां और खूबसूरती देखें तो वह तो बेमिसाल तो हैं ही साथ वहां खेल को लेकर भी काफी स्कोप है। अगर हम जम्मू कश्मीर में खेल और खिलाडिय़ों को लेकर चर्चा करें तो कई ऐसी चीजें निकलकर सामने आएंगी जिसे पढक़र आप भी दंग रह जाएंगे। आज हम आपको जम्मू कश्मीर के ऐसे क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे हैं जो भारतीय राष्ट्रीय टीम का हिस्सा रह चुका है। यह खिलाड़ी भारत की तरफ से विदेशी दौरे पर गई भारतीय टीम का हिस्सा रहा। आप शायद अब तक समझ गए होंगे और नहीं समझे तो हम आपको बता देते हैं कि हम बात कर हरे हैं परवेज रसूल जरग़र की बात कर रहे हैं जो एक आलराउंडर खिलाड़ी हैं ओर टीम इंडिया का हिस्सा रह चुके हैं। परवेज रसूल ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने पूरे भारत में एक क्रिकेटर के तौर अपनी पहचान बनाई है। 13 फरवरी 1989 को जन्मे परवेज रसूल जरग़र जम्मू-कश्मीर में एक ऑल-राउंडर के रूप में खेलते हैं।

दाएं हाथ के बल्लेबाज और ऑफब्रेक गेंदबाज हैं, रसूल जम्मू और कश्मीर टीम के कप्तान हैं और भारत ए के नियमित सदस्य हैं। उन्हें 2014 की आईपीएल नीलामी में सनराइजर्स हैदराबाद ने 95 लाख (140,000 यूएस डॉलर) में खरीदा था। रसूल जम्मू और कश्मीर के पहले क्रिकेटर थे जिन्होंने आईपीएल में खेला था। रसूल ने 2013 में जिम्बाब्वे दौरे के लिए राष्ट्रीय टीम के लिए भी चुने गए। लेकिन, रसूल ने 15 जून 2014 को मीरपुर में बांग्लादेश के खिलाफ राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व किया। परवेज रसूल को अपना पहला टी -20 मैच खेलने का पहला मौका इंग्लैंड के खिलाफ 2017 में मिला जहां उन्होंने इयोन मोर्गन को आउट किया और अपना पहला टी 20 अंतर्राष्ट्रीय विकेट हासिल किया। रसूल कश्मीर के अनंतनाग जिले के बिजबेहरा के रहने वाले हैं। उनके कोच अब्दुल कयूम थे जिन्होंने जम्मू और कश्मीर के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला है।

Loading...

जम्मू और कश्मीर के लिए जूनियर क्रिकेट खेलने से पहले, रसूल ने कय़ूम से क्रिकेट की कोचिंग ली। रसूल के पिता, गुलाम रसूल और भाई, आसिफ रसूल, दोनों ने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेला है। रसूल ने आखिरकार जून 2014 में मीरपुर में बांग्लादेश के खिलाफ भारत के लिए खेला,जहां उन्होंने 10 ओवर में 60 रन देकर दो विकेट लिए। जनवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ टी 20 आई सीरीज़ के लिए भी चुना गया जब दो नियमित स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को आराम दिया गया। परवेज ने जनवरी 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ कानपुर में भारत की तरफ से खेले जहां उन्होंने 4 ओवर में 1 विकेट लिया। उन्होंने बल्लेबाजी करते हुए 5 रन भी बनाए थे।

2009 चैंपियंस लीग ट्वेंटी 20 के दौरान, रसूल को पुलिस ने अपने बैग में विस्फोटकों के निशान की संदिग्ध उपस्थिति के सिलसिले में बंगलौर में हिरासत में लिया था। उन्होंने अपने होटल में स्निफर डॉग्स द्वारा अपने बैग की जाँच पर आपत्ति जताई। पूछताछ के बाद, पुलिस को पता चला कि उसका प्रतिरोध केवल बैग में मौजूद कुरान और प्रार्थना की चटाई के कारण था।

रसूल सीके नायडू ट्रॉफी में खेलने वाली जम्मू-कश्मीर अंडर -22 टीम के हिस्से के रूप में बैंगलोर आए थे, और केएससीए के आवासीय परिसर में रह रहे थे जो चिन्नास्वामी स्टेडियम से कुछ गज की दूरी पर था। रसूल को पुलिस ने कुछ घंटों के बाद रिहा कर दिया क्योंकि कोई भी गंभीर सबूत नहीं मिला। रसूल को 2013 में जिम्बाब्वे दौरे के लिए राष्ट्रीय टीम के लिए अपना पहला मौका मिला। वे जम्मू-कश्मीर के विवेक राजदान के बाद दूसरे ऐसे क्रिकेटर बने, जिन्हें राष्ट्रीय टीम के लिए चुना गया, लेकिन उन्होंने उस दौरे में वह खेल नहीं पाए।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *