रिलायंस जियो का बड़ा आरोप – किसान आंदोलन की आड़ में झूठा प्रचार कर रही हैं एयरटेल और वोडा आइडिया

रिलायंस जियो ने टेलीकॉम रेगुलेटरी अथोरिटी ऑफ इंडिया को पत्र लिख कर वोडा-आइडिया और एयरटेल की शिकायत की है। रिलायंस जियो का आरोप है कि वोडा-आइडिया और एयरटेल, पंजाब के किसान आंदोलन का फायदा उठा रहे हैं।

टेलीकॉम सेक्रेटरी एस के गुप्ता को लिखे खत में रिलायंस जियो ने वोडा-आइडिया और एयरटेल को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा है कि दोनों कंपनियों ने ट्राई के नियमों का उल्लंधन किया है।

खत में आरोप लगाया गया है कि वोडा-आइडिया और एयरटेल उत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों में ग्राहकों को अपनी तरफ खींचने के लिए अनैतिक रास्ते अपना रहें हैं। किसान आंदोलन से उपजे आक्रोश का फायदा फायदा उठाने के लिए यह कंपनियां झूठे प्रचार का सहारा ले रही हैं। रिलायंस जियो का कहना है कि 28 सितंबर को भी उसने ट्राई को एक अन्य पत्र लिख कर आपत्ति दर्ज कराई थी, पर इसके बावजूद यह दोनों कंपनियां ने कानून को ढेंगा दिखा कर अपने नेगेटिव प्रचार पर कायम हैं।

रिलायंस जियो ने आरोप है कि यह दोनों प्रतिद्वंदी कंपनियां अपने कर्मचारियों, एजेंट्स और रिटेलर्स के जरिए रिलायंस के विरूद्ध नेगेटिव कैम्पेन चला रही हैं। ग्राहकों को गलत तरीके से ललचा कर रिलायंस जियो से पोर्ट कराने की कोशिशों का भी जियो ने विरोध किया है। एयरटेल और वोडा-आइडिया ग्राहकों को किस तरह गुमराह कर रहे हैं इसके फोटो और वीडियो सूबूत भी रिलांयस जियो ने ट्राई को सौंपे हैं।

वोडा-आइडिया और एयरटेल अपने को किसानों का हितैषी और रिलायंस जियो को किसान विरोधी बता कर आंदोलन को हवा देने का काम कर रहीं है। रिलायंस जियो ने आरोप लगाया है कि दोनों कंपनियां पूरे देश में जियो के विरूद्ध झूठा प्रचार करने में लगी हैं। इससे रिलायंस जियो की छवि को नुकसान पहुंच रहा है।

फिल्म ‘तेजस’ के डायरेक्टर संग रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मिलने पहुंची कंगना रनौत