महात्मा गांधी की 151वीं जयंती: बापू के जीवन से सीखें सफलता के ये पांच मंत्र

दुनिया भर को अहिंसा का मार्ग दिखाने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आज 2 अक्टूबर, 2020 को 151वीं जयंती हैं। देश को आजादी दिलाने के बड़ी भूमिका निभाने वाले महात्मा गांधी का संपूर्ण जीवनज प्रेरणा से भरा रहा हैं। दनियाभर में बापू के नाम से लोकप्रिय महात्मा गांधी का जीवन उन लोगों को खास प्रेरणा देता है जो जीवन में आने वाली परेशानियों से घबरा जाते हैं। जानते हैं बापू के जीवन से वो पांच सफलता के मंत्र, जो हर इंसान के लिए बेहद जरुरी है।

आपका भविष्य आपकी आज की सोच पर निर्भर

आप क्या सोचते हैं और क्या करते हैं, इसी बात पर आपका भविष्य निर्भर करता हैं। अक्सर लोग अपने कल के बारे में न सोचकर सिर्फ ‘आज’ पर ही अपना समय, धन खर्च कर देते हैं। बापू कहते थे कि यदि वर्तमान में आपके फैसले सही होंगे तो आपका भविष्य भी सफलता के मार्ग पर अग्रसर होगा।

जितना ज्ञान बांटोगे उतना ही ज्यादा बढ़ेगा

बापू कहते हैं कि ज्ञान जितना बांटोगे उतना बढ़ेगा। इसलिए सभी की मदद करें। ऐसा करने से आपका व्यक्तित्व निखरेगा और ज्ञान भी बढ़ेगा।

धैर्य का दामन नहीं छोड़ना चाहिए

गांधीजी के मुताबिक कोई भी कार्य करते समय धैर्य नहीं छोड़ना चाहिए। सफलता हासिल करने के लिए राह में आने वाली हर परेशानी से लड़ना चाहिए।

वित्तीय अनुशासन बेहद जरुरी

जरूरी है कि आप अपने लिए वित्तीय अनुशासन अपनाए। कल के लिए बचत करें। उस बचत को सही जगह और सही मिश्रण के साथ निवेश भी करें।

मजबूत चरित्र

महात्मा गांधी का आत्मविश्वास, दृढ़ निश्चय, अटूट साहस और अदम्य धीरज उन्हें उनके लक्ष्य यानी आजादी तक लेकर गए। यही उनकी मजबूत चरित्र की पहचान थी।

यह भी पढ़े: यूपी के बाद अब बिहार में हैवानियत, गांव की छात्रा के गैंग रेप कर हत्या का प्रयास
यह भी पढ़े: गांधी जयंती पर राहुल गांधी का सरकार पर हमला, कहा-मैं किसी से डरने वाला नहीं