16 वर्षीय भारतीय किशोर ने खोजी दीवार में छेद किए बिना भारी सामान टांगने की तकनीक

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में रहने वाले 16 वर्षीय भारतीय किशोर ने बड़ा कारनामा कर दिखाया हैं। कक्षा 10 के छात्र इशिर वाधवा ने एक ऐसी तकनीक को खोज निकाला है, जिसकी मदद से दीवार में छेद किए बिना ही भारी सामान को आसानी से लटकाया जा सकता हैं। बेटे की इस उपलब्धि पर पिता सुमेश वाधवा काफी खुश है। उन्होंने कहा कि बेटे द्वारा बनाई गई इस चुंबक की मदद से हम अपने पूरे होम थियेटर को दीवार में छेद किए बिना टांग सकते हैं।

इशिर वाधवा ने अपनी इस तकनीक को परिवार के कारोबार का आधार बनाने का फैसला लिया है। जेम्स वर्ल्ड अकादमी में 10वीं के छात्र इशिर इंटरनेशनल बैकलॉरीएट पाठ्यक्रम की पढ़ाई कर रहे हैं। इशिर अपनी इस खोज के बारे में बात करते हुए कहते है कि उन्हें यह आईडिया उस वक्त आया, जब वह कील गाड़ने से दीवारों को होने वाले नुकसान को देख रहे थे। इसके बाद ही उनके मन में कुछ नया करने का विचार आया और उसका रिजल्ट सबके सामने हैं।

इशिर ने इस खोज को पूरा करने के लिए अमेरिका के प्यूर्डे विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे बड़े भाई अविक की मदद ली। दोनों भाइयों ने मिलकर दीवार में बिना छेद किए भारी सामान टांगने की इस तकनीक पर लंबा मंथन किया। जिसके बाद उन्होंने इस्पात की दो पट्टी और चुंबक से समाधान निकाल लिया। इशिर ने अपनी इस तकनीक को ‘क्लैपइट’ नाम दिया हैं। अब इशिर के पापा ने नौकरी छोड़ ‘क्लैपइट’ को लांच करने का फैसला किया है।

इशिर ने बताया कि स्टील की एक पट्टी दीवार से चिपकी होती है, जिसे ‘अल्फा स्टील टेप’ नाम दिया गया है और दूसरी पट्टी जिसपर सामाना टांगा जाता है, उसे ‘बीटा स्टील टेप’ नाम दिया गया। चुंबक पूरे ढांचे को एक साथ जोड़े रहता है। उत्पाद को जल्द बाजार में उतारने की योजना हैं।

यह भी पढ़े: ITR भरने की तारीख बढ़ी, करदाता 31 दिसंबर 2020 तक भर सकेंगे रिटर्न फाइल
यह भी पढ़े: KKR vs DC: वरुण चक्रवर्ती की घातक गेंदबाजी, पांच विकेट लेकर रचा इतिहास