Home / देश / 2 हजार के नोट ने नोटबंदी का मजा किरकिरा किया: उदय कोटक

2 हजार के नोट ने नोटबंदी का मजा किरकिरा किया: उदय कोटक

दो हजार रुपये के नए नोट जारी करने जैसी कुछ बातों से बचा जाता, तो नोटबंदी के परिणाम बहुत अच्छे हो सकते थे। आपको बता दे की कोटक महिंद्रा बैंक के एक्जीक्यूटिव वाइस चेयरमैन और एमडी उदय कोटक ने यह कहा कि बेहतर योजना के साथ इसे अंजाम दिया गया होता तो इसके परिणाम कुछ अलग तरह के हो सकते थे।

कोटक ने साथ ही कहा कि छोटे उद्योगों की स्थिति अभी कठिन है और उन्होंने इस सेक्टर में जान फूंकने के लिए सरकार की कोशिशों का स्वागत किया। पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन के पुस्तक विमोचन के मौके पर कोटक ने कहा कि यदि आप 500 रुपये और 1,000 रुपये के नोट को चलन से हटा रहे हैं, तो आप 2,000 रुपये के नोट आखिर क्यों जारी करेंगे?. योजना को लागू करने की नीति के हिसाब से सही मूल्य के नोट की ब़़डे पैमाने पर उपलब्धता सुनिश्चित किए जाने की आवश्यकता थी। यदि ऐसी बातों को ध्यान में रखा जाता, तो लोग आज नोटबंदी के बारे में कुछ और तरह से बोल रहे होते। उन्होंने कहा कि हालांकि वित्तीय सेक्टर के लिए नोटबंदी एक महत्वपूर्ण वरदान साबित हुई।

Loading...

अरविंद सुब्रमण्यन ने भी पुस्तक विमोचन के मौके पर उठाए कई सवाल पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन ने अपनी पुस्तक ‘ऑफ काउंसेल : द चैलेंजेज ऑफ द मोदी-जेटली इकोनॉमी’ के विमोचन के मौके पर कहा कि नोटबंदी से जुड़ी पहेली के दो पहलू हैं। ये दो पहलू हैं क्या GDP पर इसके असर से देश की शक्तिशाली अर्थव्यवस्था का पता चलता है और क्या आंकड़े जुटाने की प्रक्रिया सही है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *