36 ब्रिटिश सांसदों की मांग, कृषि बिलों को लेकर भारत सरकार से बात करे ब्रिटेन

भारत सरकार द्वारा बनाए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को देश और विदेश से समर्थन प्राप्त हो रहा हैं। दुनियाभर में रह रहे सिख और पंजाबी लोग किसान आंदलोन से जुड़ रहे हैं। इसी बीच ब्रिटेन के भारतीय मूल और पंजाब से संबंध रखने वाले 36 सांसदों ने कृषि बिलों को लेकर पीएम मोदी के समक्ष यह मुद्दा उठाने की बात कही हैं। उन्होंने विदेश सचिव डॉमिनिक रैब को लिखा है कि वे किसान आंदोलन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद मोदी से चर्चा करें।

पत्र में राब के साथ एक तत्काल बैठक की मांग भी की गई है। पत्र पर लेबर, कंजरवेटिव और स्कॉटिश नेशनल पार्टी के पूर्व श्रम नेता जेरेमी कॉर्बिन, वीरेंद्र शर्मा, सीमा मल्होत्रा, वैलेरी वाज़, नादिया व्हिटोम, पीटर बॉटमली, जॉन मैककॉनेल, मार्टिन डॉकर्टी-ह्यूजेस और एलिसन थेवलिस आदि ने हस्ताक्षर किये हैं।

क्या है बिटिश सांसदों की मांग

पत्र में कहा गया कि ब्रिटेन में सिखों और पंजाब से जुड़े लोगों के लिए विशेष रूप से चिंता का विषय है, यह अन्य भारतीय राज्यों पर भी भारी पड़ता है। सांसदों ने हाल ही में भारतीय उच्चायोग को पत्र लिख तीन कृषि कानूनों को शोषण से बचाने और उनकी उपज का उचित मूल्य सुनिश्चित करने में विफल बताया था।

यह भी पढ़े: 20000mAh वाला Laptop चार्जिंग पावरबैंक लॉन्च, जानें कीमत और स्पेसिफिकेशन
यह भी पढ़े: INDvsAUS: जडेजा को चहल द्वारा रिप्लेस करने पर मचा बबाल, गावस्कर ने किया बचाव