मजेदार जोक्स: एक मनोचिकित्सक जब अपने क्लीनिक

अस्थियों के विशेषज्ञ दो डॉक्टर सुबह-सुबह घूमने निकले.
आगे एक व्यक्ति लंगड़ाता हुआ जा रहा था.
एक डॉक्टर बोला – “लगता है इसकी टखने की हड्डी टूटी हुई है …
”दूसरा डॉक्टर बोला – “नहीं यार, घुटने की हड्डी टूटी है …
”दोनों में बहस होने लगी.
आखिर तय हुआ कि उसी व्यक्ति से पूछा जाए.
.
उसके पास जाकर एक डॉक्टर ने पूछा –
“भाईसाहब, आपकी घुटने की हड्डी टूटी है या टखने की … ?”
वह व्यक्ति बोला – “मेरी न तो घुटने की हड्डी टूटी है और न ही टखने की….
मेरी तो चप्पल टूटी है…!!!”😂😉😂😉😉

********************************************************************

एक मनोचिकित्सक जब अपने क्लीनिक पहुंचा तो उसने वहां दो मरीजों को पाया।
एक छत से उल्टा लटका हुआ था जबकि दूसरा ऐसा अभिनय कर रहा था कि जैसे वह कुल्हाड़ी से लकड़ियां काट रहा हो।
डॉक्टर ने अभिनय करने वाले से पूछा – यह आदमी उल्टा क्यों लटका हुआ है ?
उसने हंसते हुए बताया – वह बेवकूफ समझता है कि वह बल्ब है।
डॉक्टर बोला – तुम उसे फौरन नीचे उतारो।
आदमी – उसे नीचे उतार दूं तो फिर मैं क्या अंधेरे में लकड़ियां काटूंगा …..?😂😉😂😉😉

मजेदार जोक्स: तुम्हारी चिड़िया सात दिन के लिए नानी के घर गई है.