Breaking News
Home / टेक्नोलॉजी / आधार सॉफ्टवेयर हुआ हैक, डाटाबेस की सुरक्षा पर फिर खड़े हुए सवाल

आधार सॉफ्टवेयर हुआ हैक, डाटाबेस की सुरक्षा पर फिर खड़े हुए सवाल

आधार डाटाबेस की सुरक्षा पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। आधार एनरोलमेंट सॉफ्टवेयर को हैक कर लिया गया है। जिसके द्वारा हैकर्स अनलिमिटेड आधार आईडी बना सकते हैं। दावा किया गया है कि आधार डाटाबेस को एक सॉफ्टवेयर के जरिए हैक किया गया जिसमे हैकर्स सिक्योरिटी फीचर को बंद कर सकते हैं। हफिंगटनपोस्ट ने जांच में यह पाया कि आधार एनरोलमेंट सॉफ्टवेयर को सही में हैक किया गया है। इससे मल्टीपल आईडी बनाई जा सकती हैं। यह हैक एक पैच द्वारा किया गया है जिसके तहत आधार एनरोलमेंट सॉफ्टवेयर को दुनिया में कहीं भी इस्तेमाल किया जा सकता है और सिक्योरिटी प्रोटोकॉल में छेड़खानी भी कर सकता है।

इस की मदद से आधार सॉफ्टवेयर को पाकिस्तान में बैठे लोग भी आधार आईडी बना कर भारत में घुस सकते हैं । यह पैच हजारों वॉट्सऐप ग्रुप्स पर न्यूनतम 2,500 रुपये में उपलब्ध है। नेशनल क्रिटिकल इंफोर्मेशन इंस्फ्रास्क्चर प्रोटेक्शन सेंटर और UIDAI को इस मामले में सूचित कर दिया गया है।पैच सॉफ्टवेयर प्रोग्राम के फंक्शन को बदलने का काम करता है। आधार एनरोलमेंट सिस्टम को ऑपरेटर की बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन की जरुरत होती है जिसको यह बाईपास कर देता है। पैच सॉफ्टवेयर के इन-बिल्ट जीपीएस क्षमता को भी बंद कर देता है जिससे UIDAI या फिर कोई और एजेंसी यह कभी नहीं जान पाएंगे की फेक आईडी बनाई गई हैं या नहीं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *