Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / अनुच्‍छेद-370 के विशेष प्रावधानों को समाप्‍त करना मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक ऐतिहासिक साहसिक कदम

अनुच्‍छेद-370 के विशेष प्रावधानों को समाप्‍त करना मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक ऐतिहासिक साहसिक कदम

नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिन में असाधारण बहादुरी और निर्णायक क्षमता का परिचय दिया है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के पहले 100 दिन की उपलब्धियों के बारे में मीडियाकर्मियों को जानकारी देते हुए केन्‍द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अहमदाबाद में यह बात कहीं।

आर्थिक मंदी की आशंकाओं को खारिज करते हुए केन्‍द्रीय मं‍त्री ने स्‍पष्‍ट शब्‍दों में कहा कि भारत के विकास की कहानी के मूल सिद्धांत अक्षुण्‍ण हैं, इसलिये पहली तिमाही में जीडीपी का गिरकर पांच प्रतिशत पर आना निश्चित रूप से निराशा का संकेत नहीं है। उन्‍होंने कहा कि केन्‍द्र सरकार और राज्‍य सरकारें विश्‍वव्‍यापी मंदी से अर्थव्‍यवस्‍था की रक्षा करने के लिए अनेक कार्य कर रही हैं और साथ ही पीएसबी द्वारा ऋण विस्‍तार, पीएसबी के विलय और एनबीएफसी के नियमों में ढ़ील जैसे विभिन्‍न उपायों के जरिये विकास को गति दी जा रही है। श्री प्रसाद ने कहा कि बहु-आयामी विकास अनुकूल प्रयासों द्वारा अस्‍थायी मंदी पर अंकुश लगा लिया जाएगा, जिससे न केवल बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन होगा, बल्कि कृषि प्रसंस्‍करण, रियल इस्‍टेट और निर्माण तथा अन्‍य विनिर्माण क्षेत्रों में निजी क्षेत्र का निवेश बढ़ाना सुनिश्चित किया जा सकेगा।

Loading...

एक सवाल के जवाब में केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर की जनता अनुच्‍छेद 370 के विभिन्‍न प्रावधानों तथा 35ए को समाप्‍त करने के सरकार की कार्रवाई के लाभों से भलीभांति परिचित है। पा‍क अधिकृत कश्‍मीर में मानवाधिकारों के घोर उल्‍लंघन के लिए पाकिस्‍तान को बुरी तरह फटकारते हुए केन्‍द्रीय मंत्री ने जोर देकर कहा कि यदि पाकिस्‍तान के साथ आतंक मुक्‍त माहौल में कोई बातचीत होती है, तो वह पाक अधिकृत कश्‍मीर में होगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व की प्रशंसा करते हुए उन्‍होंने कहा कि नेतृत्‍व की निर्णायक क्षमता ने देश के समग्र विकास के लिए स्‍पष्‍ट दिशा-निर्देश प्रदान किया है। उपलब्धियों के बारे में और जानकारी देते हुए श्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि विश्‍व भर में सुगम व्‍यवसाय में बहुत बड़ा परिवर्तन देखने को मिला है, जहां 2014 में 142वां स्‍थान था, वह 2019 में 77वें स्‍थान पर आ गया।

रविशंकर प्रसाद ने प्रमुख कर ढांचे के सरलीकरण और डिजिटाइजेशन की प्रक्रिया का उदाहरण देते हुए इसे एक महत्‍वपूर्ण उपलब्धि बताया। उन्‍होंने मीडियाकर्मियों को जानकारी दी कि तीन तलाक की समाप्ति और अपराधों की रोकथाम के लिए निवारक कानून के रूप में पोक्‍सो कानून में संशोधन का सभी ने स्‍वागत किया है। उन्‍होंने कहा कि पीएमजेएवाई के अंतर्गत 16,000 अस्‍पतालों को पैनल में शामिल किया गया है, 20,000 स्‍वास्‍थ्‍य और तदुरूस्‍ती केन्‍द्रों को परिचालन योग्‍य बनाने के साथ-साथ 10 करोड़ ई-कार्ड जारी किये जा चुके हैं। श्री प्रसाद ने प्रधानमंत्री किसान मान धन योजना का स्‍वागत करते हुए कहा कि इस योजना से करोड़ों किसानों को लाभ मिला है। नये जल शक्ति मंत्रालय का गठन पानी की बचत, जल संरक्षण और गंदे पानी के शोधन की दिशा में एक उल्‍लेखनीय कदम है।

यह भी पढ़ें: सरकार बन्द कराये सुप्रीम कोर्ट से राम जन्मभूमि का मुकदमा

यह भी पढ़ें: अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र-छात्राओं को मिलेगा छात्रवृति

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *