अबॉर्शन पिल्‍स से हो सकते हैं यह घातक परिणाम, डाॅक्टर की जरूर लें सलाह

आज के समय में हर जोड़ा फैमिली प्लानिंग पर ही जोर देता है, लेकिन कभी-कभी कुछ गलतियों के कारण गर्भ ठहर जाता है। इस अनचाहे गर्भ से निजात पाने के लिए कुछ महिलाएं अबाॅर्शन पिल्स का सहारा लेती है, लेकिन इसके कभी-कभी कुछ गंभीर परिणाम भी देखने को मिलते हैं। ऐसे में यह बेहद आवश्यक है कि इसके सेवन से पहले डाॅक्टर की सलाह ली जाए। तो चलिए जानते हैं अबाॅर्शन पिल्स से होने वाले कुछ नुकसानों के बारे में-

जब आप गर्भपात कराने वाली गोली का सेवन करती हैं तो महिला के शरीर में बन रहे प्रेग्‍नेंसी हॉर्मोन प्रोजेस्‍टेरॉन का उत्पादन बंद हो जाता है और भ्रूण गर्भाशय से अलग होकर बाहर आने लगता है। जिसके कारण पीरियड की ब्‍लीडिंग से ज्‍यादा मात्रा में हो सकती है। यह कुछ दिनों, हफ्तों से लेकर एक महीने तक हो सकती है। कई बार आवश्यकता से अधिक ब्लीडिंग घातक भी साबित होती है।

इन गोलियों को खाने से पेट में दर्द और ऐंठन काफी अधिक होता है। चूंकि शरीर भारी मात्रा में रक्‍त और दूसरे द्रव लगातार निकलते रहते हैं इसलिए पेट, पैरों और शरीर के कई हिस्‍सों में ऐंठन की शिकायत हो सकती है जो आपको काफी असहज कर सकती है।

गोली लेने के बाद कुछ महिलाओं को चक्कर भी आने लगते हैं। कभी-कभी हालत ज्‍यादा खराब हो जाती है। ऐसे में डॉक्‍टर से संपर्क करना बेहद आवश्यक हो जाता है। कभी-कभी सिरदर्द के साथ बुखार भी आ सकता है। बुखार अगर दो-तीन दिन से लंबा चले तो भी डॉक्‍टर से मिलना जरूरी हो जाता है।

गर्भपात की गोली का एक सबसे ज्यादा व गंभीर नुकसान यह होता है कि इससे गर्भपात तो हो जाता है लेकिन गोली के असर से भ्रूण पूरी तरह शरीर बाहर नहीं आ पाता। समय रहते इस पर ध्यान न दिया जाए तो महिलाओं को कई अंदरूनी बीमारियां भी हो जाती है।