Breaking News
Home / दुनिया / जानिए, कौन होते हैं दलाई लामा

जानिए, कौन होते हैं दलाई लामा

तिब्बती अध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने अपने बयान को लेकर सार्वजानिक रूप से माफी मांगी है। दलाई लामा ने कहा कि अगर मेरे बयान को लेकर लोगों को कुछ गलत लगा हो या किसी का दिल दुखा हो तो मैं इसके लिए माफ़ी मांगता हूं। दलाई लामा ने कहा, मेरा बयान अचानक विवादास्पद हो गया और अगर कुछ ग़लत है तो मैं माफ़ी मांगता हूं। गौरतलब है कि बुधवार को गोवा इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट में एक कार्यक्रम के दौरान दलाई लामा ने भारत-पाकिस्तान के बंटवारे के लिए जवाहर लाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी चाहते थे कि जिन्ना प्रधानमंत्री बनें ताकि देश का बंटवारा ना हो लेकिन, जवाहर लाल नेहरू ने आत्म केंद्रित फैसला लेते हुए बंटवारे की इजाजत दे दी थी।

Loading...

जानिए, पत्रकार से राज्यसभा उपसभापति बने हरिवंश नारायण सिंह के बारे में

दलाई लामा एक मंगोलियाई पदवी है जिसका मतलब होता है ज्ञान का महासागर और दलाई लामा के वंशज करूणा, अवलोकेतेश्वर के बुद्ध के गुणों के साक्षात रूप माने जाते हैं। बोधिसत्व ऐसे ज्ञानी लोग होते हैं जिन्होंने अपने निर्वाण को टाल दिया हो और मानवता की रक्षा के लिए पुनर्जन्म लेने का निर्णय लिया हो। उन्हें सम्मान से परमपावन की कहा जाता है।

तेनजिन ग्यात्सो चीन के चौदहवें दलाई लामा हैं जो (6 जुलाई, 1934 से वर्तमान में तिब्बत के राष्ट्राध्यक्ष और आध्यात्मिक गुरू हैं। वह तिब्बत में आजाद व स्वतंत्र रूप से सत्ता चाहते हैं। लेकिन, चीन ने तिब्बत पर हमेशा अपना वर्चसव बनाए रखा है और तिब्बितयों के आंदालेन और विरोध को सख्ती से कुचलता है।

चीन दलाई लामा को इस विरोध का जिम्मेदार ठहराता है। दलाई लामा चीन की इस सख्ती से ही परेशान होकर भारत में शरण लिए हुए हैं, दलाई लामा हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में रहते हैं। चीन ने 1949 में धोखे से हमला कर तिब्बत पर कब्जा कर लिया था।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *