Breaking News
Home / देश / वी वी पैट पर्चियों की संख्‍या के मिलान के बारे में किसने क्या कहा?

वी वी पैट पर्चियों की संख्‍या के मिलान के बारे में किसने क्या कहा?

बाईस विपक्षी पार्टियों के शिष्‍टमंडल ने निर्वाचन आयोग से आग्रह किया है कि लोकसभा चुनाव के वोटों की गिनती रैन्‍डम तरीके से चुने गये पांच मतदान केन्‍द्रों की वी.वी.पैट पर्चियों के सत्‍यापन के बाद की जानी चाहिए, न कि मतगणना के बाद। इन नेताओं ने मांग की कि अगर वी वी पैट पर्चियों की जांच के दौरान कोई कमी पाई जाती है तो उस विधानसभा खण्‍ड के सभी मतदान केन्‍द्रों की वी वी पैट पर्चियों का सत्‍यापन किया जाना चाहिए। विपक्षी दलों ने वी वी पैट पर्चियों की संख्‍या का मिलान ई वी एम आंकड़ों से करने का मुद्दा भी उठाया।

Loading...

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा :- इलेक्‍शन कमीशन ने निकाला है जो ऑर्डर उसमें कहा है कि पहली काउंटिंग हो जाएगी और उसके बाद वीवीपैट देखेंगे। हम लोगों ने कहा 22 राजनीतिक दलों ने नहीं, पहले गिननी चाहिए वीवीपैट और उसके बाद दूसरे गिनने चाहिए। दूसरा अगर उन पांच पोलिंग स्‍टेशन पर डिस्‍क्रिपेंसी पाई गई तो पूरी विधानसभा के वीवीपैट को गिनना चाहिए।

भाजपा ने ई वी एम की विश्‍वसनीयता पर प्रश्‍न उठाने के लिए विपक्ष की आलोचना की है। पार्टी ने कहा है कि अगर जनता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर से सत्‍ता में लौटने के लिए वोट दिया है तो विपक्ष, नम्रतापूर्वक अपनी हार स्‍वीकार कर ले।

रविशंकर प्रसाद ने कहा- इसी ईवीएम से जब कांग्रेस पार्टी जीते राजस्‍थान, मध्‍यप्रदेश और छत्‍तीसढ़ तो ईवीएम ठीक है। इसी ईवीएम से जब ममता जी बने दो-दो बार मुख्‍यमंत्री, अमरिंदर सिंह बने पंजाब के मुख्‍यमंत्री तो ईवीएम ठीक है। जब वो जीते तो ईवीएम ठीक है। अगर हमारे जीतने का अनुमान हो तो ईवीएम गड़बड़ है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *