जन्मदिन विशेष: जानिए, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जीवन से जुड़ी ये खास बातें

आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जन्मदिन है। आज सीएम योगी 47 वर्ष के हो गए है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह समेत अन्य वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें जन्मदिन की बधाई दी है।

योगी आदित्यनाथ का जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के यमकेश्वर तहसील के पंचुर गाँव में हुआ है। वह गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर के महंत भी हैं।

  • योगी आदित्यनाथ ने टिहरी में स्थित स्कूल में पढ़ाई की तथा सन् 1987 में यहाँ से ही उन्होंने 10वीं की परीक्षा दी।
  • सन् 1989 में ऋषिकेश के श्री भरत मंदिर इंटरमीडिएट कॉलेज से उन्होने इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की।
  • सन् 1990 में ग्रेजुएशन की पढ़ाई की और साथ में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े।
  • सन् 1992 में श्री नगर के हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय से उन्होने गणित में बीएससी (B.Sc) की परीक्षा पास की।
  • योगी आदित्यनाथ जी की पढ़ाई में बाधाएं आई जब वे कोटद्वार में रह रहे थे। उस दौरान उनके कमरे से उनका सामान चोरी हो गया जिसमें इनके सनत प्रमाण पात्र भी थे जिसके कारण योगी जी की गोरखपुर से विज्ञान स्नातकोत्तर करने की कोशिश विफल रही, फिर ऋषिकेश में दोबारा दाखिला लिया और राम मंदिर आन्दोलन से जुड़ गए।
  • सन् 1993 से गणित में एमएससी (M.Sc) की पढ़ाई के दौरान गुरु गोरखनाथ पर शोध करने यह गोरखपुर प्रवास के दौरान ही ये महंत अवैद्यनाथ के संपर्क में आए। अंततः ये महंत की शरण में ही चले गए और दीक्षा ले ली।
  • बाद में 12 सितम्बर 2014 को गोरखनाथ मंदिर के पूर्व महंत अवैद्यनाथ के निधन के बाद योगी आदित्यनाथ को यहाँ का महंत बनाया गया। 2 दिन बाद इन्हें नाथ पंथ के पारंपरिक अनुष्ठान के अनुसार मंदिर का पीठाधीश्वर बनाया गया।

योगी आदित्यनाथ का पॉलिटिकल करियर:

  • सन् 1998 में योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ा और भाग्यवश जीता भी तब उनकी उम्र केवल 26 वर्ष थी। वे बारहवीं लोक सभा (1998-1999) के सबसे युवा सांसद थे।
  • सन् 1999 में गोरखपुर से दोबारा सांसद चुने गए।
  • अप्रैल 2002 में उन्होने हिन्दू युवा वाहिनी बनाई।
  • सन् 2004 में तीसरी बार लोकसभा का चुनाव जीता।
  • सन् 2009 में भी 2 लाख ज्यादा वोट जीतकर लोकसभा पहुंचे।
  • सन् 2014 में जब पांचवी बार सांसद बने।
  • सन् 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारी बहुमत मिलने के बाद योगी आदित्यनाथ को विधायक दल का नेता चुनकर मुख्यमंत्री पद सौंपा गया।