सलाह या चेतावनी? शिवसेना ने बागी विधायकों से कहा- समय रहते समझदार बनो

महाराष्ट्र में सियासी भूचाल का सामना कर रही शिवसेना ने अपने बागी विधायकों को ‘समझदार’ बनने की सलाह दी है। साथ ही सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल दल ने दावा किया है कि भारतीय जनता पार्टी भी सरकार बनाने के लिए ‘गुप्त’ बैठकें कर रही है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए हाल ही में हुए विधान परिषद और राज्यसभा चुनाव के नतीजों पर भी सवाल उठा दिए हैं। पार्टी ने सभी विधायकों के भाजपा के समूह में शामिल होने के संकेत दिए हैं।

सामना में प्रकाशित संपादकीय के अनुसार, ‘कल तक भ्रष्टाचार, आर्थिक कदाचार के आरोपों वाले शिवसेना विधायकों पर हमला करनेवाले, उन्हें ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स का डर दिखाकर ‘अब तुम्हारी जगह जेल में है’ ऐसा बोलनेवाले किरीट सोमैया इसके बाद क्या करेंगे? ये सभी विधायक कल से भाजपा के समूह में शामिल हो गए हैं और दिल्ली के राजनीतिक गागाभट्टों ने उन्हें पवित्र, शुद्ध कर लिया है।’

शिवसेना ने राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के आवास पर जारी गहमागहमी का भी जिक्र किया गया है। लिखा गया है, ‘भारतीय जनता पार्टी ने महाराष्ट्र में सत्ता स्थापना के लिए गुप्त बैठकें शुरू की हैं। मुंबई के ‘सागर’ बंगले में उत्साह की लहर उफान मार रही है। उस लहर की झाग कई लोगों की नाक और मुंह में गई, परंतु भाजपा किसके बल पर सरकार स्थापना करना चाहती है।

पार्टी ने विधायक एकनाथ शिंदे को लेकर लिखा, ‘नगरविकास मंत्री शिंदे व उनके साथ मौजूद विधायकों को पहले मुंबई  आना होगा। विश्वासमत प्रस्ताव के समय महाराष्ट्र की जनता की नजर से नजर मिलाकर विधानभवन की सीढ़ी चढ़नी पड़ती है। शिवसेना द्वारा उम्मीदवारी देकर मेहनत से जीतकर लाए व अब शिवसेना से बेईमानी कर रहे हो? इन सवालों के जवाब देने पड़ेंगे।’

हाल ही में संपन्न हुए हुए चुनाव में मिली हार को लेकर शिवसेना ने लिखा, ‘राज्यसभा, विधान परिषद चुनाव की ‘अतिरिक्त’ जीत किसकी वजह से मिली है, यह अब खुल गया है।’

चेतावनी या सलाह?

शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधते हुए पार्टी विधायकों को चेताया है। संपादकीय के मुताबिक, ‘आज जो भाजपा वाले उन्हें हाथों की हथेली पर आए जख्म की तरह संभाल रहे हैं, वे आवश्यकता समाप्त होते ही पुन: कचरे में फेंक देंगे। भाजपा की परंपरा यही रही है।’ साथ ही पार्टी ने सलाह दी है, ‘समय रहते सावधान हो जाओ, समझदार बनो!’

क्या है मामला

शिवसेना विधायक एकनाथ शिंदे ने राज्य की महाविकास अघाड़ी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वह असम के गुवाहाटी में 30 से ज्यादा विधायकों के साथ मौजूद हैं। खबर है कि हाल ही में कुछ और विधायक भी शिंदे खेमे के साथ जा मिले हैं।

यह पढ़े: टीम इंडिया के खिलाफ प्रैक्टिस मैच खेलेंगे चेतेश्वर पुजारा, जसप्रीत बुमराह समेत ये 4 खिलाड़ी; जानें वजह