शिशु को जन्म देने के बाद माँ को रखना चाहिए अपना विशेष ध्यान

जब एक स्त्री मां बनती है तो उसकी जिम्मेदारी पहले से काफी बढ जाती है। बच्चे की हर छोटी-बडी बात का ख्याल रखना मां का ही उत्तरदायित्व बनता है लेकिन जब बात शिशु के पोषण की हो तो इसके लिए सबसे पहले मां को अपना ख्याल रखना होता है, तभी वह बच्चे की पोषण संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति कर पाती है। दरअसल, नवजात शिशु अपने आहार और पोषण संबंधी आवश्यकताओं के लिए मां के दूध पर निर्भर करता है, वहीं अगर मां अपनी सेहत का पूरी तरह ध्यान नहीं रखती तो इसका सीधा और विपरीत असर आपके नवजात पर पडता है-

प्रसव के बाद एक स्त्री का शरीर काफी कमजोर हो जाता है और अपने शरीर की खोई उर्जा पाने के लिए आपको आयरन, विटामिन, प्रोटीन तथा ओमेगा 3 आदि पोषक तत्वों को अपने आहार मे मुख्य रूप से शामिल करना चाहिए। ये पोषक तत्व माँ और बच्चा दोनों की सेहत के लिए अहम् होते है। इन पोषक तत्वों के आभाव में जहां एक ओर माँ के शरीर में खून की कमी हो जाती है और वह कई बीमारियों की चपेट में आ जाती है। वहीं इसका असर नवजात के ऊपर भी पड़ता है।