नीतीश और नड्डा के मुलाक़ात के बाद से ही चिराग के तेवर पड़े पहले से नरम

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर रोज नए-नए किस्से सुनने को मिल रहे है। वोटरों को अपने पक्ष मे करने को लेकर सभी पार्टियाँ तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे है। कभी कोई किसी कि तारीफ करते दिख रहा है फिरर उसी कि बुराई करते हुआ दिखाई पड़ रहा है। ऐसे ही पिछले कुछ समय से लगातार जदयू और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर हमलावर रहे लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के तेवर नरम पड़ गए हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा दो दिवसीय बिहार दौरे पर हैं। चुनाव की रणनीति बनाने के लिए नड्डा ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है।

नीतीश और नड्डा के मुलाक़ात के बाद से ही चिराग के तेवर पहले से ढीले पड़ गए है। चिराग पासवान ने साफ तौर पर कहा कि मैं किसी को टेंशन नहीं दे रहा हूं। लोग क्यों टेंशन ले रहे हैं, ये मेरे समझ से परे है। चिराग ने कहा कि मैंने हाल ही में पूरे बिहार का भ्रमण किया है। मुझे जो समस्याएं दिखीं, वो एक जनप्रतिनिधि होने के नाते मैंने सीएम साहब के सामने रखा।

सीट शेयरिंग पर चिराग ने कहा कि एक बार गठबंधन के भीतर बात हो जाए उसके बाद जो भी फैसला होगा उसे सार्वाजिनक करेंगे। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सीट को लेकर कोई लड़ाई ही नहीं है। हम बीजेपी के साथ हैं। बीजेपी ने कहा है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे। बीजेपी के निर्णय के साथ उनकी पार्टी शुरू से है और आगे भी रहेगी। सीएम नीतीश को नेता मानने पर चिराग पासवान ने कहा कि जब बीजेपी ने सीएम नीतीश के नेतृत्व को स्वीकारा है तो हम भी उनके साथ है।

Loading...