ब्रेस्ट के लिए बहुत घातक है Air pollution

जिन इलाकों में बहुत ज्यादा उच्च स्तर का वायु प्रदूषण हो, वहां की महिलाओं के स्तनों के ऊतकों का घनत्व बहुत ज्यादा हो सकता है, और उसमें कैंसर पनपने की आशंका बढ़ जाती है।  यह निष्कर्ष अमेरिका की करीब 2,80,000 महिलाओं पर अध्ययन करने के बाद निकाला गया है।

कहा गया है कि स्तनों का आकार ऊतकों का घनत्व बढ़ने से बड़ा हो जाता है और वसा की अधिकता से भी आकार बढ़ता जाता है, लेकिन अगर चर्बी बढ़ने से स्तन का आकार बढ़ा हो, तो उसमें कैंसर पनपने की आशंका नहीं रहती।  खतरा ऊतकों का घनत्व बढ़ने पर होता है, जिसे मैमोग्राफी से मापा जा सकता है।

शोध की रिपोर्ट पत्रिका ‘ब्रेस्ट कैंसर रिसर्च’ में प्रकाशित हुई है, जिसमें बताया गया है कि फाइन पार्टिकल कन्सेंट्रेशन (पीएम 2। 5) में एक इकाई की बढ़ोतरी से महिलाओं के स्तनों के ऊतकों का घनत्व बढ़ने की संभावना लगभग 4 फीसदी बढ़ जाती है।

जिन महिलाओं के ज्यादा घनत्व वाले स्तन थे और ऊतकों की 20 फीसदी तक उच्च सांद्रता थी।

इसके विपरीत जिन महिलाओं के कम घनत्व वाले स्तन थे।

 

Loading...