त्वचा की समस्या दूर करता है एल्कोहल, जानिए कैसे और कब करें यूज

ऐसा माना जाता है की शराब पीना सेहत के लिए बहुत हानिकारक है लेकिन इसे शरीर पर रगड़ने से बहुत फायदा भी होता है। घाव को जल्दी भरने के लिए उस पर ‘एल्कोहल’ का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा शराब को ‘बॉडी’ पर रगड़ने से कई सारी बीमारियों से भी छुटकारा मिल सकता है। आइए जानिए किन बीमारियों में ‘एल्कोहल’ को शरीर पर रगड़ना चाहिए।

कान में पानी जाना
नहाते समय या ‘स्विमिंग’ करते वक्त कई बार कान में पानी चला जाता है जिससे कान में खुजली और ‘इंफैक्शन’ हो जाती है और दर्द होने लगता है। ऐसे में ‘एल्कोहल’ की बूंदों को कान के पास रगड़ना चाहिए जिससे कान के अंदर पानी सूख जाएगा। इसके अलावा ‘एल्कोहल’ में सिरका मिक्स करके भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

लाल निशान
बुखार या किसी और वजह से होंठ, नाक के नीचे या ठोडी के असापास लाल चकत्ते हो जाते हैं जिससे काफी दर्द होता है। इसके लिए त्वचा के उस हिस्से पर ‘एल्कोहल’ लगा लें और 10 मिनट के बाद पानी से धोएं। 2-3 दिन लगातार ऐसा करने से फायदा होगा।

घाव
कई बार चोट लगने की वजह से घुटने या कोहनी पर हल्की चोट लग जाती है जिसके लिए डॉक्टर के पास जाना बहुत जरूरी नहीं होता। ऐसे में ‘कॉटन’ पर ‘एल्कोहल’ लगाकर घाव पर लगाएं और 10 मिनट के लिए ऐसा ही छोड़ दें। इससे ‘इंफैक्शन’ नहीं होगी और घाव भी बहुत जल्दी भरेगा।

मांसपेशियों में दर्द
मांसपेशियों में दर्द होने पर दवा खाने की जगह ‘एल्कोहल’ का इस्तेमाल करें। इसके लिए दर्द वाली जगह पर एल्कोहल रगड़ें। 1 घंटा लगा रहने के बाद इसे पानी से धो लें। इससे दर्द बहुत कम हो जाएगा।

खराब नाखुन
कई बार ‘इंफैक्शन’ की वजह से हाथ या पैर पर ‘फंगस’ की समस्या हो जाती है। ऐसे में नाखुनों का रंग सफेद या पीला पड़ जाता है और नाखुन कठोर हो जाते हैं। इसके लिए ‘कॉटन’ पर ‘एल्कोेहल’ डालें और इसे नाखुनों पर लगाएं। आधा घंटा ‘कॉटन’ को नाखुन पर ही रहने दें और फिर धोकर अच्छे से पौंछ लें। इससे ‘फंगस इंफैक्शन’ विल्कुल ठीक हो जाएगा।