देसी ड्रोन कंपनी Garuda Aerospace का कमाल, मलेशिया में करने जा रही ये काम

ड्रोन स्टार्टअप गरुड़ एयरोस्पेस ने मलेशिया में अपना पहला एयरोस्पेस प्लांट स्थापित करने के लिए हिल्से ग्लोबल (हिल्से ड्रोन) के साथ समझौता किया है। इस प्लांट का नाम हिल्से गरुड़ एयरोस्पेस होगा और इसे 2.42 हेक्टेयर में बनाया जाएगा। इसके लिए 115 करोड़ रुपये निवेश किए जाएंगे।

गरुड़ एयरोस्पेस के संस्थापक सीईओ अग्निश्वर जयप्रकाश ने कहा, ‘‘इस साझेदारी के साथ गरुड़ एयरोस्पेस भारत के सबसे मूल्यवान ड्रोन स्टार्टअप के रूप में स्थापित हो गया है, जो विश्व स्तर पर बड़े पैमाने पर आगे बढ़ने के लिए तैयार है।’’ कंपनी के मुताबिक इसके शुरू होने के बाद दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में यह पहला और सबसे बड़ा प्लांट होगा। इससे 3,000 नौकरियों की उम्मीद है।

बता दें कि साल 2015 में स्थापित, गरुड़ एयरोस्पेस एक ड्रोन-ए-ए-सर्विस (डीएएएस) स्टार्टअप है। कंपनी डिजाइन, 30 विभिन्न प्रकार के ड्रोन का निर्माण करती है और 50 से अधिक प्रकार की सेवाएं देती है। अस्पतालों के लिए दवाओं की ड्रोन डिलीवरी, भोजन के लिए पैकेज की ड्रोन डिलीवरी के अलावा एग्रीकल्चर आदि सेक्टर में भी सक्रिय है।

यह पढ़े: 280 रुपये के पार जा सकता है टाटा ग्रुप का यह शेयर, राकेश झुनझुनवाला के पास हैं 667 करोड़ रुपये के शेयर