अमेरिका ने फिर दिया ड्रैगन को झटका, 14 सीनियर अधिकारियों को किया प्रतिबंध

अमेरिकी राष्ट्रपति अपना पद छोड़ने से पहले-पहले कोरोना फ़ैलाने के जिम्मेदार रहे अपने घोर विरोधी चीन को लगातार बड़े झटके दे रहे हैं। चीन की कई कंपनियों को ब्लैकलिस्ट करने के बाद इस बार ट्रंप ने चीन के कुछ अधिकारियों के खिलाफ बड़ी कारर्वाई की है। यह कार्यवाही हांगकांग की स्वायत्तता को कमजोर करने से संबंधित मामले में की गई हैं। अमेरिका ने सोमवार को चीन के 14 वरिष्ठ अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाया, जिनमें एक तिब्बती भी शामिल है।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति (एनपीसीएससी) द्वारा हांगकांग के लोगों की अपने प्रतिनिधि का चुनाव करने की क्षमता को प्रभावित किया हैं। इस प्रतिबन्ध में वीजा रोक भी शामिल रहेगी।

इससे पहले अमेरिका ने चीन के सबसे बड़े प्रोसेसर चिप निर्माता कंपनी एसएमआईसी और तेल की दिग्गज कंपनी सीएनओओसी समेत 4 चाइनीज कंपनियों को ब्लैकलिस्ट में डाला था। ट्रंप प्रशासन के मुताबिक अमेरिका में चल रहीं कई चीनी कंपनियां का संचालन चीनी सेना प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से कर रही है।

इन चीनी कंपनियों पर ट्रंप प्रशासन ने किया वार

चाइना कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी कंपनी (CCTC),
चाइना इंटरनेशनल इंजीनियरिंग कंसल्टिंग कॉर्प (CIECC),
चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉर्पोरेशन (CNOOC)
सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन (SMIC)

यह भी पढ़े: PAK के दोस्त तुर्की ने फिर रची साजिश, अब कश्मीर भेजेगा सीरिया के आतंकवादी
यह भी पढ़े: किसानों का ‘भारत बंद’ आज, जानिये क्या हैं देशभर में ट्रैफिक और सुरक्षा व्यवस्थाएं