अमेरिका ने तोड़े चीन और डब्ल्यूएचओ से अपने सभी संबंध, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने की घोषणा

कोरोना की शुरुआत से ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) और चीन से नाराज है। पिछले कई महीनों से वह डब्ल्यूएचओ को चीन के इशारों पर काम करने वाला संगठन बता रहे है। वही चीन पर कोरोना वायरस की उत्पत्ति का आरोप भी लगा रहे है। जिसकी वजह से अब ट्रंप ने चीन और विश्व स्वास्थ्य संगठन से अमेरिका द्वारा सभी संबंध तोड़ने का एलान किया है। उनके मुताबिक डब्ल्यूएचओ बदलाव की प्रक्रिया शुरू करने में नाकाम रहा है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) से सारे संबंधों को समाप्त करने की घोषणा करते वक्त ट्रंप ने कहा कि डब्ल्यूएचओ पूरी तरह से चीन के इशारे पर काम कर रहा है। वह कोरोना संकट में बदलाव की भूमिका निभाने में असफल रहा है, इसलिए हम उसके साथ सारे संबंध खत्म करने की घोषणा करते है। ट्रंप ने आगे कहा कि चीन डब्ल्यूएचओ को प्रतिवर्ष मात्र 4 करोड़ रूपये देता है और अमेरिका उसे 45 करोड़ डॉलर। इसके बावजूद हमारी बातों को नहीं सुना जाता है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने आरोप लगाते हुए कहा की डब्ल्यूएचओ से सुधार को लेकर जो सिफारिशें हमारे द्वारा की गई थी उसे लागू नहीं किया गया। इस वजह से अमेरिका डब्ल्यूएचओ से अपना रिश्ता तोड़ रहा है। वही चीन ने कोरोना वायरस की वुहान लैब से उत्पत्ति को लेकर सही जानकारी छिपाई है, इसलिए अमेरिका चीन से भी अपने सभी रिश्ते खत्म कर रहा है। ट्रंप की इस घोषणा के बाद उनकी उन्ही के देश में आलोचना होने लगी है।

यह भी पढ़े: आर्थिक पैकेज को मोदी ने बताया बड़ा कदम, कहा- आत्मनिर्भर भारत बनाना समय की मांग
यह भी पढ़े: तो 10 से 11 हो जायेगी मौजूदा मोबाइल नंबर्स में अंकों की संख्या, ट्राई ने की नई सिफारिशें

Loading...