चीन के खिलाफ भारत के जोश को अमेरिका ने सराहा, कहा- बेहतर जवाब दिया

सीमा विवाद पर चीन के खिलाफ भारत की जोरदार कार्यवाही को अमेरिका ने सराहा है। अमेरिका का कहना है कि चीन ने पूर्वी लद्दाख में आक्रामकता दिखाई लेकिन भारत ने बेहतर तरीके से उसका जवाब दिया। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि उन्होंने पूरे मामले में भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर से कई बार बातचीत की। उन्होंने कहा कि चीन लगातार अपने पडोसी देशों के साथ सीमा पर विवाद उत्पन्न कर उन्हें परेशान कर रहा है।

पोम्पिओ ने कहा कि दुनियाभर के देशों को चीन को ऐसा करने की इजाजत नहीं देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दुनिया में ऐसा कोई देश नहीं है जिसे स्पष्ट रूप से पता हो कि उसके देश की संप्रभुता कहां समाप्त होती है और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी उस संप्रभुता का सम्मान करेगी।

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि जवाब देने के लिए दुनिया को एक साथ आना चाहिए। इसे राष्ट्रपति ट्रंप ने गंभीरता से लिया है। पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका ने इस मसले पर बात करने का प्रयास किया और हम मुद्दे पर गंभीर है। इस मामले पर हमारी जल्द ही यूरोपीय संघ के देशों से भी बातचीत होगी कि किस तरह हमें चीन की चुनौतियों का जवाब देना चाहिए। पोम्पिओ ने कहा कि अब उन्हें पहले से अधिक यकीन हो गया है कि कोरोना चीन ने जानबूझकर पैदा किया है।

यह भी पढ़े: इस साल नहीं होगा एशिया कप का आयोजन, BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने किया कंफर्म
यह भी पढ़े: मनोरंजन इंडस्ट्री को लगा बड़ा झटका, सुशांत के बाद अब इस अभिनेता ने की आत्महत्या