Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / अमित शाह ने किसको कहा – आप ज्यादा न बोला करें

अमित शाह ने किसको कहा – आप ज्यादा न बोला करें

देश के कुछ हिस्सों में जहां लोग नागरिकता सशोंधन कानून निरस्त करने की बात कर रहे है। दूसरी तरफ गृह मंत्री अमित शाह ने   लखनऊ में एक रैली के दौरान कहा है कि सिटीजन एक्ट वापिस नही होगा।

अमित शाह ने विपक्षी पार्टियो पर भी हमला बोला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, टीएमसी, मायावती, सपा और कम्युनिस्ट पार्टी के लोग कांव-कांव चिल्ला रहे हैा मैनें इस बिल को संसद में पेश किया है। मैं चुनौती देता हूं, अगर इस बिल में किसी भी धारा में किसी की नागरिकता छीननें की बात है तो दिखाएँ।

Loading...

आगे उन्होने पाकिस्तान पर हमला करते हुए कहा कि वहां अल्पसंख्यकों पर लगातार अत्याचार हो रहे है। अफगानिस्तान में बौद्ध की प्रतिमाएं तोड़ी गई। आगे शाह ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस ने देश का विभाजन घर्म के आधार पर करवाया। जब इस देश का विभाजन हुआ था तो  पूर्वी पाकिस्तान यानी आज का बाग्लादेश में 30 और पाकिस्तान में 23 फीसद अल्पसंख्यक थे। कहा गए वो, या तो उन्हें मार दिया गया या फिर उनका धर्म परिवर्तन करवाया गया।

अमित शाह ने मानवाधिकारों की बात करने वाले पर कहा कि वे लोग तब कहा गए थे। जब कश्मीरी पंडितो को बाहर निकाला गया था। उस समय मानवाधिकार कहा थे। इन पीड़ित लोगो को नरेन्द्र मोदी ने नया अध्याय शुरु करने का मौका दिया है। जो लोग इसका विरोध करना चाहे करें। लेकिन में डंके की चोट पर कहना चाह्ता हूं कि सिटीजन एक्ट वापिस नही होगा। इस कानून पर कांग्रेस पंडित नेहरु और महात्मा गांधी की बात नही सुनना चाहती।

आगे उन्होंने अखिलेश यादव पर बोलते हुए कहा कि आप ज्यादा न बोला करें। पहले आप कानून को पढ़े और फिर विरोध करे। राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए शाह ने कहा कि राहुल गांधी को हर देशहित की बात पर विरोध करना है। ममता बनर्जी और राहुल गांधी कहते थे कि धारा 370 न हटाओं, लेकिन जो गलती पंडित नेहरु ने की, उसे प्रधानमंत्री ने उखाड़ फेका।

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर बोलते हुए शाह ने कहा कि सिब्बल कहते थे कि कोर्ट राम मदिंर पर अभी फैसला न सुनाए। लेकिन कोर्ट न फैसला सुनाया । आज से तीन महीने बाद राम जी का भव्य मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। आगे शाह ने जेएनयू के देश विरोधी नारों पर बात करते हुए कहा कि उन सब को नरेद्र मोदी ने जेल में डाल दिया जो देश के खिलाफ नारे लगाते थे। लेकिन इस पर राहुल गांधी, ममता बनर्जी और अखिलेश यादव कहते है कि यह बोलने की आजादी का अधिकार है। अखिलेश यादव को शाह ने कहा कि आप जितना मर्जी भाजपा के खिलाफ बोल ले। लेकिन देश के खिलाफ बोलने वालों को जेल में डाला जाएगा।

एक तरफ देश के गृह मंत्री नागरिकता कानून को वापिस लेने की बात नही कह रहे, तो दूसरी तरफ देश के  अलग-अलग राज्यों में इस कानून को निरस्त करने की मांग हो रही है। दिल्ली के शाहीन बाग में लगभग एक महीने से ज्यादा हो गया हैा वहां महिलाएं, बच्चें और छात्र लगातार इस कानून का विरोध कर रहे है। केरल और पंजाब ने इस कानून के खिलाफ अपनी-अपनी विधानसभा में इसके विरुध प्रस्ताव जारी कर दिया है। केरल देश का पहला राज्य जिसनें नागरिकता कानून को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *