17 अप्रैल को कुंभ समाप्ति का ऐलान!

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते देशभर के हालात भयावह हो गए हैं।श्मशान घाटों पर भी शवों की कतारें लगनी शुरू हो गई हैं।

इसी बीच निरंजनी अखाड़े ने कुंभ की समाप्ति की घोषणा कर दी है। महंत रवींद्र पुरी ने कुंभ की समाप्ति की घोषणा करते हुए कहा कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते अखाड़े ने यह फैसला किया है कि 17 अप्रैल को कुंभ मेला समाप्त कर दिया जाएगा।

पुरी ने इस दौरान अन्य अखाड़ाें से भी मेला समाप्त करने की अपील की और कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों के हित में मेले का समापन हो जाना चाहिए।

महंत पुरी का कहना है कि कोरोना से बड़ी संख्या में साधु संतों से लेकर आम श्रद्धालु तक पीड़ित हैं। जिसके चलते अखाड़े ने फैसला लिया है कि महाकुंभ मेले को समय से पूर्व ही समाप्त कर दिया जाए। अन्य अखाड़े भी उनके अखाड़े की राय से सहमत हैं।

रविंद्र पुरी ने यह भी कहा कि अखाड़ों की छावनी में मौजूद सभी संतो से कह दिया गया है कि जल्द से जल्द वह अपने मठ मंदिरों मैं लौट जाएं और अखाड़ों को खाली कर दें, ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो।