एक साथ दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बना भारत, कोवैक्सीन और कोविशील्ड को DCGI ने दी अनुमति

ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को इस्तेमाल की अनुमति दे दी है।

भारत एक साथ दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया है. दोनों ही वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन को 2 से 8 डिग्री तापमान के बीच स्टोर करना होगा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद DCGI डायरेक्टर वीजी सोमानी ने कहा कि आपात इस्तेमाल के लिए मंजूर की गई दोनों वैक्सीन सुरक्षित हैं. कोवैक्सीन को भारत बायोटेक ने बनाया है.

कोविशील्ड को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका ने बनाया है. भारत में इसका निर्माण और ट्रायल सीरम इंस्टिट्यूट के साथ किया गया है.

Co-WIN App के माध्यम से वैक्सीन के लिए स्वयं को पंजीकृत किया जा सकता हैं। लेकिन स्थानीय अधिकारियों द्वारा पहचाने गए फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को टीका लगाए जाने के बाद ही यह संभव होगा। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दी हैं। यह एप अभी तक आधिकारिक तौर पर पेश नहीं किया गया हैं और प्ले स्टोर पर भी नहीं है। आवेदन स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा एक्सेस किए जा रहे प्री-प्रोडक्ट स्टेज में है। इसमें स्वास्थ्य कर्मचारियों का डेटा अपलोड हो रहा है।