कहीं आप भी नहीं है माउथवॉश के आदी, तो पहले इसे जरूर पढ़लें?

माउथवॉश का रोज प्रयोग करने के आदी हैं आप? क्या बिना माउथवॉश के आपको कुछ अधुरा लगता है? अगर हां में जवाब है आपका तो कृप्या कर इसे बंद कर दें, क्योंकि आप अनजाने में डायबिटीज को दावत देरहे हैं। ऐसा हम नहीं बल्क हारवर्ड यूनिवर्सिटी में हुए शोध से पता चला है। अगर आप दिन में दो बार रोज माउथवॉश का यूज कर रहे हैं तो आप पर ये खतरा मंडरा सकता है। शोध में ये बात सामने आई है कि ऐसे व्यक्ति जो दिन में दो बार माउथवॉश यूज कर रहे हैं तो तीन साल केअंदर डायबिटीज की संभावना तेजी से बढ़ेगी। यही नहीं इस प्रयोग से कई अन्य बीमारियों का खतरा भी बढ़ सकता है।

शोध में ये बात सामने आई है कि जो लोग कभी कभार माउथवॉश यूज करते हैं उनकी तुलना में रोज दो बार माउथवॉश यूज करने से करीब 55 प्रतिशत डायबिटीज का खतरा होगा। शोध में पाया गया है कि ज्यादारत माउथवॉश में एंटी बैक्टिरियल तत्व होते हैंऔर ये मुंह में उत्पन्न होने वाले नाइट्रिक ऑक्साइड को पैदा करने में बाधा उत्पन्न करते है। इससे मेटाबॉलिक डिसॉडर, ब्लड प्रेशर में परिवर्तन करने जैसे कई कारण पैदा करता है। इस कारण से डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल माउथवॉश करने से मुंह में रहने वाले अच्छे जीवाणु को भी माउथवॉश से खत्म कर दिया जाता है जो ब्लड प्रेशर, मोटापा और डायबिटीज हो रोकने में मददगार होते हैं।

यह भी पढ़ें:

डायबिटीज जैसे गंभीर रोग से बचने के लिए जानिए इन बातों का रखे ध्यान

इन उपायों की मदद से आप बच सकते है माइग्रेन की गंभीर बीमारी से