हिमाचल के शहरी क्षेत्रों में आशा कार्यकर्ताओं की होगी नियुक्ति

हिमाचल प्रदेश सरकार ने शहरी क्षेत्रों में घर-घर जाकर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों की तरह शहरी क्षेत्रों में भी आशा कार्यकर्ताओं को नियुक्त करने का फैसला लिया है। प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) सुभाशीष पांडा ने बताया कि आठ सौ आबादी के लिए एक आशा कार्यकर्ता को तैनात किया जाएगा और केंद्र सरकार से इसकी मंजूरी मिल गयी है।

पांडा ने बुधवार को कहा कि विभाग जल्द ही राज्य में 780 से अधिक आशा कार्यकर्ताओं की भर्ती करेगा। मौजूदा समय में राज्य के विभिन्न हिस्सों में जनता के स्वास्थ्य देखभाल के लिए 7,964 आशा कार्यकर्ता तैनात हैं।

उन्होंने बताया कि सभी नई आशा कार्यकर्ता प्रखंड चिकित्सा अधिकारी (बीएमओ) के अधीन काम करेंगी। लोगों को घर-घर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए उन्हें राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम), राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के तहत नियुक्त किया जाएगा। पांडा ने कहा कि एक आशा कार्यकर्ता को राज्य सरकार से 4,700 रुपये और केंद्र सरकार से 2,000 रुपये मासिक पारिश्रमिक मिलता है।

यह भी पढ़े: कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए नीतीश