अस्थमा के मरीज एक्सरसाइज करने के दौरान रखें इन बातों का ध्यान

अस्थमा वाले मरीजों के लिए एक्सरसाइज करना खतरनाक साबित हो सकता है अगर आप कुछ सावधानियों पर नज़र नहीं रखते हैं। अस्थमा एक ऐसी स्थिति है जो समय-समय पर सामान्य श्वास प्रक्रिया को रोकती है। इसे बहुत देखभाल की आवश्यकता होती है और ज्यादातर समय एक इन्हेलर श्वास प्रक्रिया को सामान्य करने में मदद करता है। इसीलिए कठोर एक्सरसाइज या रनिंग अत्यंत हानिकारक हो सकता है क्योंकि यह हार्ट बीट को बढ़ाता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप एक्सरसाइज नहीं कर सकते हैं। वास्तव में, आप केवल एक्सरसाइज के द्वारा अपनी दमा की स्थिति को कम कर सकते हैं। कुछ युक्तियों को जानें जो आपको अस्थमा के साथ एक्सरसाइज करने में मदद करेंगे।

सही एक्सरसाइज चुनें:
आमतौर पर जिन लोगों को अस्थमा होता है, वे कार्डियो एक्सरसाइज का ज्यादा अभ्यास नहीं करते हैं। इसलिए, ऐसा एक्सरसाइज चुनें जो स्ट्रेंथ ट्रेनिंग पर केंद्रित हों, ना कि कार्डियो पर। एक्सरसाइज के अलावा आप योग का अभ्यास भी कर सकते हैं। यह आपके ब्रीदिंग सिस्टम को बेहतर बनाने में भी आपकी मदद करता है।

वार्म अप जरूर करें:
इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आप किस तरह का वर्कआउट पसंद करते हैं। लेकिन इससे पहले वार्म-अप सेशन करना ना भूलें। यह आपकी सहनशक्ति को बढ़ाने में मदद करता है और आपके वर्कआउट को भी बेहतर बनाता है।

दवाइया साथ रखें:
आपको दवाइयों को हमेशा अपने साथ रखना चाहिए। यह किसी भी बड़ी समस्या को रोकने में आपकी मदद करेगा। यदि आप अपने साथ कोई दवा या इनहेलर रखते हैं, तो यह आपके एक्सरसाइज को खतरे से मुक्त और सुरक्षित बना देगा।

आराम महत्वपूर्ण है:
बहुत अधिक एक्सरसाइज करने की कोशिश ना करें। आपको पता होना चाहिए कि आपको बहुत आराम चाहिए। इसलिए, हर 10 मिनट में, कुछ आराम करें और हार्ट पंप को नॉर्मल करें। इससे आपको खतरे से दूर रहने में मदद मिलेगी।

यह भी पढे –

सौंफ आंखों की रोशनी को बढ़ाने में करता है मदद, और भी हैं कई फायदे