Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / अटल बिहारी वाजपेयी: उनसे पूछो 15 अगस्त के बारे में क्या कहते है?

अटल बिहारी वाजपेयी: उनसे पूछो 15 अगस्त के बारे में क्या कहते है?

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 35A व 370 अब हट चुका है। बहुत पहले भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने अखंड भारत को लेकर एक बहुत सुन्दर कविता को रचा |

कुछ पंक्तियाँ यहाँ प्रस्तुत है:-

Loading...

“पंद्रह अगस्त” का दिन कहता, आज़ादी अभी अधूरी है

सपने सच होना बाकि है, रावी की शपथ न पूरी है|

जिनकी लाशों पर पग धर कर, आज़ादी भारत में आई

वे अब तक है खानाबदोश, गम की काली बदली छाई |

कलकत्ते के फुटपाथो पर, जो आंधी पानी सहते है

उनसे पूछो, “15 अगस्त के बारे में क्या कहते है”||

भूखों को गोली, नंगों को हथियार पहनाये जाते है

सूखे कंठो से जेहादी नारे लगवाये जाते है|

लाहौर, कराची, ढाका पर मातम की है काली छाया

पख्तूनों पर, गिलगित पर है ग़मगीन गुलामी का साया |

बस इसलिए तो कहता हूँ, आज़ादी अभी अधूरी है

कैसे उल्लास मनाऊ मै, थोड़े दिन की मजबूरी है|

दिन दूर नही खंडित भारत को, पुन अखंड बनाएंगे

गिलगित से गारो पर्वत तक, आज़ादी पर्व मनाएंगे |

उस स्वर्ण दिवस के लिए आज से कमर कसे, बलिदान करे,

जो पाया उसमें खो न जाये, जो खोया उसका ध्यान करें||

370 हटने से चीन के साथ भारत की सीमा और वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर नहीं पड़ेगा कोई प्रभाव

बीजेपी ने लिया बाढ़ प्रभावित गांवों को गोद लेने का निर्णय

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *