पत्नी के गहने बेच ऑटो को बनाया एम्बुलेंस, मरीजों को फ्री में ले जा रहा अस्पताल

कोरोना की दूसरी लहर मध्यप्रदेश, गुजरात, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल समेत कई राज्यों में विकराल हो गई हैं। यह इतनी ज्यादा भयावह हो चुकी है कि लोगों को जेब में पैसे होने के बाबजूद इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा हैं। लेकिन इसी बीच इस कोरोना काल में भी कई ऐसे चेहरे हैं, जो खुद की परवाह किये बिना अन्य पीड़ितों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। कई लोग हैं जो संपूर्ण मन और निस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा कर रहे हैं।

ऐसे ही एक निःस्वार्थ ऑटो चालक हैं, जो भोपाल में रिक्शा चलाकर अपने परिवार का गुजारा करते हैं। मौजूदा हाल में उन्होंने परिवार की स्तिथि को नजरअंदाज करते हुए भी अपने ऑटो को एंबुलेंस में तब्दील कर दिया है। ऑटो चालक जावेद खान बताते है कि उसने टीवी और सोशल मीडिया पर राज्य में कोरोना से हो रही बदहाली देखी कि एंबुलेंस और ऑक्सीजन की कमी से लोग अपने मरीजों को अस्पताल लेकर नहीं जा पा रहे हैं।

जावेद खान का कहना है कि उसने लोगों की मदद के लिए अपने ऑटो को ऑक्सीजन से लैस एंबुलेंस में तब्दील कर दिया। जावेद का नंबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गया हैं। जावेद बताते है कि इस काम के लिए उसने अपनी पत्नी के ज्वेलरी बेच दी और इसके बाद मैं एक ऑक्सीजन केंद्र के बाहर लाइन में खड़ा रहा और एक सिलिंडर भराकर अपने ऑटो में रख दिया। बकौल जावेद वह अभी तक नौ गंभीर मरीजों को अस्पताल लेकर जा चुके हैं।

यह भी पढ़े: बिहार सरकार के मुख्य सचिव अरूण कुमार सिंह का निधन, CM नीतीश ने जताया शोक
यह भी पढ़े: जाने-माने पत्रकार रोहित सरदाना का निधन, मीडिया जगत में फैली शोक की लहर