बाबरी मस्जिद विध्वंश केस: उमा भारती ने कहा- राम मंदिर के लिए हर सजा मंजूर

अयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंश केस के 28 साल पुराने मामले में आज सीबीआई की विशेष अदालत अपना फैसला सुनाने जा रही हैं। 6 दिसंबर 1992 को विवादित ढांचा ढहाने के कथित षड्यंत्र, भड़काऊ भाषण और पत्रकारों पर हमले के 49 मुकदमों पर आज अंतिम फैसला होगा। इस पूरे मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती भी आरोपी हैं। फैसले से पहले उन्होंने कहा है कि राम मंदिर के लिए वह हर सजा भुगतने के लिए तैयार हैं। उन्हें न्यायालय की सजा मंजूर है।

उमा भारती ने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर चुनाव समिति का सदस्य बनने की इच्छा भी जाहिर की। उन्होंने पत्र में लिखा कि 30 सितंबर को राम मंदिर मामले में फैसला सुनाया जाएगा। जो भी न्यायालय का फैसला होगा उसे मैं भुगतने के लिए तैयार हूं। उन्होंने लिखा फैसले के दौरान सीबीआई की विशेष अदालत में स्वास्थ्य ठीक ना होने के कारण मैं उपस्थित नहीं हो पा रही हूं। लेकिन राम मंदिर के लिए अदालत के हर फैसले को मंजूर करती हूं।

दूसरे आरोपी कल्याण सिंह ने भी कहा है कि बाबरी विध्वंश मामले में जो फैसला आएगा वह उन्हें स्वीकार होगा। यह करोर्ड़ों हिन्दुओं की भावना का सवाल है। इसको देखते हुए कोई भी बलिदान देने के लिए तैयार हूं। श्रीराम के लिए जो भी हमारी तरफ से हुआ, मैं उसे अब भी कम समझता हूं।

यह भी पढ़े: Disney पर भी कोरोना महामारी का वार, 28 हजार कर्मचारियों की जायेगी नौकरी
यह भी पढ़े: IPL 2020 DC vs SRH: राशिद खान ने पेरेंट्स के नाम किया मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड