सभी उधोगों में बैन हो चीन की भारत में एंट्री, हम सरकार के साथ मजबूती से खड़े- ममता बनर्जी

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच चल रहे संघर्ष को लेकर पूरे देश में आक्रोश व्यापत है। इसी बीच केंद्र सरकार ने शुक्रवार (19 जून) को सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया। जिसमें तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी उपस्तिथि दर्ज कराई। उन्होंने कहा कि तानाशाह चीन के खिलाफ वह और उनकी पार्टी केंद्र सरकार के साथ मजबूती से खड़ी है। इस जंग में चीन हारेगा और भारत जीतेगा।

ममता बनर्जी ने कहा कि ह राष्ट्र के लिए एक अच्छा संदेश है, जो ये दिखाता है कि हम अपने जवानों के पीछे एकजुट हैं। उन्होंने चीन के साथ व्यापार संबंधो को कमजोर बनाने पर जोर दिया और कहा कि चीन को किसी भी सूरत में भारत के दूरसंचार, रेलवे और उड्डयन (एविएशन) क्षेत्रों में प्रवेश की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए। बनर्जी ने कहा कि किसी भी उद्योग में चीन की भारत में एंट्री को बैन करने से हमें दिक्कत तो होगी, लेकिन चीन को यहां घुसने नहीं देना है।

ममता बनर्जी ने कहा, चीन में लोकतंत्र नहीं है। वे एक तानाशाही हैं। वे वही कर सकते हैं जो वे महसूस करते हैं। दूसरी ओर, हमें एक साथ काम करना होगा। भारत जीत जाएगा, चीन हार जाएगा। एकता के साथ बोलिए। एकता के साथ सोचें। एकता के साथ काम करें। हम सरकार के साथ हैं।

यह भी पढ़े: सुशांत को था अंकिता लोखंडे से ब्रेकअप होने का दुख, डॉक्टर ने किये और भी कई खुलासे
यह भी पढ़े: भारत और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ त्रिकोणीय सीरीज़ खेलने के लिए मैदान पर , अभ्यास के लिए उतरेगी ईसीबी की महिला टीम