बरगद का पेड़ होता है सेहत से भरपूर, जानें कैसे ?

बरगद के पेड़ को अंग्रेजी में Banyan Tree कहा जाता है।  हिन्दू कल्चर में बरगद का पेड़ बहुत महत्वपूर्ण रोल प्ले करता है। इसकी पूजा वट सवित्री के दिन की जाती है। ऐसा माना जाता है कि संडे के दिन इस पेड़ से लक्ष्मी जी पधारती है। इस पेड़ के अनेको फायदे है।  ये मसूड़ों के लिए, त्वचा के लिए, बालों, नकसीर के लिए, झाइयों से निजात दिलाने के लिए, दस्त, फटी एडियों के लिए अत्यंत लाभप्रद होता है। आइये जानें इसके बाकी लाभ –

रिंकल्स से निजात दिलाएं-

रिंकल्स से छुटकारा पाने के लिए बरगद की पत्तियों और नारियल के गुदे को मिला लें।  इस पेस्ट को अच्छे से मिक्स कर लें और फिर रिंकल्स पर अप्प्लाई करें।  ऐसा करने से झाइयां समाप्त हो जाएगी। इसके अलावा आप बरगद के पत्तो में मसूर की दाल भी मिला सकते है।  चेहरा निखर जाएगा।

आँखों की रोशनी बढ़ाने में फायदेमंद-

बरगद का पेड़ आँखों की रोशनी बढ़ाने में काफी असरदार होता है। बरगद के दूध में कपूर के पाउडर को डाल लें। फिर इस मिक्सचर को अपनी आँखों पर अप्प्लाई करें।  बरगद के दूध में आप लौंग को पीस कर भी मिला सकती है।  फिर इसे अपनी आँखों पर यूज़ करें। ऐसा करने से आँखों की रोशनी बढ़ जाएगी।

दांत बनाएं स्ट्रांग-

बरगद के दूध में शहद डाल लें और मिक्स कर लें।  फिर इसे अपने मसूड़ों पर अप्प्लाई करें और करीब दस मिनट तक लगा कर रखें। बाद में मुंह वॉश कर लें।

नकसीर से दिलाए छुटकारा-

बरगद का पेड़ नकसीर की समस्या को दूर करने में फायदेमंद होता है।  एक पेस्ट बना लें जिसमे ध्रुवी गास, बरगद के पत्ते और शहद मिला लें। इस मिक्सचर का रोज़ाना यूज़ करें। ऐसा करने से आपकी नकसीर की समस्या से राहत मिलेगीखत्म हो जाएगी।

यह भी पढ़ें:

औषधीय गुणों से भरपूर होता है काला नमक, जानिए इसके बड़े फायदे

जानिए, गुलाब जल के औषधीय गुणों के बारे में