डायबिटीज और किडनी स्टोन जैसी कई बीमारियों में फायदेमंद है तुलसी, जानिए 20 फायदे

तुलसी(Basil) को सही मायने में कई भारतीय घरेलू उपचारों में सबसे अधिक और व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली सामग्री के रूप में जाना जाता है। तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो शरीर को इंफेक्शन से बचाने में मदद करता है। नियमित बुखार हो या फिर कोई बड़ी समस्या, तुलसी हर समस्या का समाधान कर सकती है। तुलसी एक एंटी-बैक्टीरियल तत्व के रूप में कार्य करती है और डेंगू से उबरने में मदद करती है। तुलसी का काढ़ा भी कई स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने में मदद करती है। ऐसे में आपको इसके लाभों की जानकारी सही तरीके से होनी चाहिए।

इसे चाय में डालकर बनाया जा सकता है या इसे कच्चा, पाउडर, पेस्ट या हर्बल सप्लीमेंट के रूप में लिया जा सकता है। इस प्रकार तुलसी डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है।

जिन लोगों के किडनी में स्टोन होता है उनके लिए भी तुलसी फायदेमंद होता है।

यह एक डिटॉक्सीफाइंग, क्लिंजिंग और प्यूरिफाइंग एजेंट के रूप में कार्य करता है जो शरीर को डिटॉक्स करके कई स्वास्थ्य समस्याओं से बचाने में मदद करता है।

तुलसी बुखार, सिरदर्द, गले में खराश, सर्दी, खांसी, फ्लू और सीने में जमाव से राहत दिलाने में मदद करता है।

तुलसी क्रॉनिक ब्रॉन्काइटिस, अस्थमा जैसी सांस की बीमारियों के इलाज में भी फायदेमंद होता है।

तनाव को दूर करने, प्रतिरक्षा को मजबूत करने और पाचन को बेहतर करने में मदद करता है।

यह फाइटोन्यूट्रिएंट्स, एसेंशियल ऑयल्स, विटामिन ए और सी से भरा हुआ होता है।

तुलसी दांतों से संबंधित समस्या जैसे- सूजन, कैविटी, गम्स से भी राहत दिलाने में मदद करता है।

तुलसी हेपेटाइटिस, मलेरिया, टीबी, डेंगू और स्वाइन फ्लू जैसी स्थितियों के इलाज में भी फायदेमंद होता है।

इसे एडाप्टोजेन के रूप में भी जाना जाता है।

यह फ्री-रेडिकल्स के हानिकारक प्रभावों को दूर कर सकता है।

तुलसी ब्लड शुगर के स्तर को कंट्रोल करता है और इसलिए डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है।

सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट, लखनऊ, भारत के अनुसार, तुलसी शरीर में स्ट्रेस हॉर्मोन – कोर्टिसोल के सामान्य स्तर को बनाए रखने में मदद कर सकती है।तुलसी एक प्रभावी कीट प्रतिकारक है और कीट के काटने के इलाज में सहायता कर सकता है।

20 मिनट के लिए तुलसी के पत्तों से बने पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं। इसे ठन्डे पानी से धो लें। तुलसी के मजबूत एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण मुंहासों को रोकने में मदद करते हैं।

तुलसी के पत्ते शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में सकारात्मक प्रभाव दिखाते हैं, जिससे हृदय संबंधी रोगों को रोकने में मदद मिलती है। तुलसी के पत्ते दिल के लिए एक टॉनिक के रूप में भी काम करते हैं।

तुलसी लिवर के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। यह लिवर को डिटॉक्स करने में मदद करता है।

तुलसी में एनलजेसिक इफेक्ट होता है, जो दर्द और सूजन को कम करने में मदद करता है।

तुलसी इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है।

तुलसी में कैल्शियम उच्च मात्रा में होता है जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। साथ ही जोड़ों में होने वाली दर्द और सूजन को भी कम करता है।

यह भी पढे –

अजवाइन कोलेस्ट्रॉल को करता है कंट्रोल, ब्लड प्रेशर और पेट की समस्या में भी है कारगर, जानिए अन्य लाभ